Breaking Tube
Crime Police & Forces

बांदा: कांस्टेबल नीतू शुक्ला की हत्या के आरोप में SP समेत 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पुलिस ने छिपा दिया था सुसाइड नोट

Constable neetu shukla death case

उत्तर प्रदेश के बाँदा जिला के कमासिन थाने में तैनात महिला कांस्टेबल नीतू शुक्ला का शव 6 सितंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी के फंदे पर लटका मिला था। इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने तत्कालीन एसपी, अपर एसपी, थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना के आदेश दिए हैं। मृतका के पिता सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार शुक्ला शुरू से ही बेटी की मौत को हत्या बता रहे हैं। तत्कालीन इंस्पेक्टर प्रतिमा सिंह को दोषा बता जा रहा है।


आरोपियों में एसपी, एएसपी, थाना प्रभारी भी शामिल

जानकारी के मुताबिक, मृतका नीतू शुक्ला के भाई राघवेंद्र शुक्ला ने धारा 156(3) के तहत एफआईआर दर्ज कराने की अर्जी दी थी। लेकिन स्थानीय अदालत ने इसे परिवाद के रूप में दर्ज किया था। इस पर राघवेंद्र ने हाईकोर्ट में रिवीजन याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट ने सीजेएम का आदेश खारिज करते हुए पुन: सुनवाई कर आदेश दिया था। इस पर राघवेंद्र ने अधिवक्ता विनोद कुमार त्रिवेदी के माध्यम से सीजेएम कोर्ट में पुन: अर्जी दी थी।


Also Read: बिजनौर: कमरे में लटका मिला सिपाही का शव, मौके से सुसाइड नोट बरामद


सुनवाई के बाद सीजेएम नुपुर ने सोमवार को हाईकोर्ट की रिवीजन याचिका का संज्ञान लेते हुए कमासिन थानाध्यक्ष को आदेश दिया है कि अर्जी में शामिल सभी आरोपियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना करें। आरोपियों में तत्कालीन एसपी एस आनंद, अपर एसपी लाल भरत पाल, तत्कालीन थाना प्रभारी प्रतिमा सिंह और कांस्टेबल हरेंद्र पाल, ज्ञान प्रकाश ओझा, तसलीम अहमद, रावेंद्र साह व योगेश मौर्या शामिल हैं।


परिजनों का आरोप- हत्या कर शव फंदे से लटकाया

मृतका के भाइयों का कहना है कि कि उनकी बहन की कमासिन थाना परिसर बांदा में हत्या करके शव लटगाया गया था। महिला पुलिसकर्मी के परिवारीजन का आरोप है कि थानाध्यक्ष ने ही बेटी की हत्या करवाने के बाद मामले को आत्महत्या का रूप देने को शव को फांसी पर लटकवा दिया। मृतका सिपाही नीतू के पिता अनिल कुमार शुक्ला भी हरदोई में दारोगा के पद पर कार्यरत हैं।



नीतू के पिता उपनिरीक्षक अनिल कुमार शुक्ला (बाएं) के साथ एएसपी एलबीके पाल

Also Read: मेरठ: पत्नी ने IPS पति पर लगाया कई महिलाओं से शारीरिक संबंध का आरोप, गिरफ्तारी के लिए की जाएगी अधिकारियों से बात


उनका कहना है कि उनकी बेटी के शरीर के बाहरी अंगों पर चोट के निशान पाए गए हैं। इसके साथ ही सुसाइड नोट में लड़की ने चार सिपाहियों पर घोर उत्पीड़न करने का जिक्र है, जिससे यह आत्महत्या का मामला संदिग्ध लग रहा है। उन्होंने बताया कि पुलिस को वहां से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ। पहले पुलिस ने सुसाइड नोट को छुपा दिया था। जिसमें मृतका ने पुलिस महकमे को ही कठघरे में खड़ा कर दिया।



इंस्पेक्टर प्रतिमा सिंह से जानकारी लेते सीओ बबेरू(फाइल फोटो)

घरवालों ने बताया कि उसके बिस्तर से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें नीतू ने चार सिपाहियों पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। भाइयों का कहना है कि फोन पर बात करते वक्त मेरी बेटी बेहद डरी-सहमी रहती थी। उन्होंने नीतू की गला घोंटकर हत्या के बाद फंदे पर लटकाने का आरोप लगाया। उनका कहना था कि घटना के समय नीतू किचन में दलिया बना रही थी और वहां दलिया बिखरी मिली। इससे लग रहा है कि उसकी हत्या की गई है। जिस जगह फांसी पर शव लटका मिला, उसके पैर पास ही पड़े बेड के नीचे तक लटक रहे थे। उसके चेहरे समेत शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे। परिजन ने आशंका जताई कि वह थाने से संबंधित कोई रहस्य जानती थी जिसे हत्यारोपित दबाना चाहते थे।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

कानपुर: असलहों की Home Delivery करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, मो. जाहिद समेत 4 गिरफ्तार, 6 तमंचे बरामद

S N Tiwari

खुलासा: हर महीने 8 से 12 हजार का नुकसान झेल रहे है कांस्टेबल और एएसआई

S N Tiwari

नाबालिग बच्ची का बयान – तलाक के बाद भी मां से हर रोज दरिंदगी करते थे पापा

Satya Prakash