Breaking Tube
Crime UP News

रोहिंग्या मुसलमानों की तलाश में UP के कई जिलों में छापेमारी, टेरर फंडिंग का लिंक भी खोज रही ATS

UP ATS Rohingya Muslims

उत्तर प्रदेश में बुधवार को आतंकवाद निरोधक दस्ता (UP ATS) ने रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya Muslims) की तलाश में एक साथ कई जिलों में छापेमारी की। संतकबीरनगर स्थित खलीलाबाद, बस्ती और अलीगढ़ समेत कई जिलों में संदिग्धों की तलाश में कार्रवाई जारी है। बताया जा रहा है कि आधा दर्जन संदिग्धों को पकड़ा गया है। एटीएस यूपी में टेरर फंडिंग के नेटवर्क की भी तलाश कर रही है। यूपी एटीएस इस मामले में शाम तक बड़ा खुलासा कर सकती है।


जानकारी के अनुसार, यूपी एटीएस ने संतकबीरनगर जिले के खलीलाबाद ब्लॉक में तैनात जेई अब्दुल मन्नान को हिरासत में लिया है। इसके अलावा करीब आधा दर्ज से ज्यादा संदिग्ध लोगों को हिसात में लिया गया है। खुफिया एजेंसी के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इन सब के पास फर्जी दस्तावेज और टेरर फंडिंग करने का आरोप पाया गया है।


सामने आई करोडो़ं के लेनदेन की बात


एटीएस की टीम ने खलीलाबाद कोतवाली के मोहद्दीनपुर गांव से खलीलाबाद ब्लॉक में तैनात तकनीकी सहायक अब्दुल मन्नान और मोतीनगर मोहल्ले से उसके तीन सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। मन्नान पर आरोप है कि वह फर्जी पासपोर्ट बनवाता था। तीन अन्य के बारे में बताया जा रहा है कि वे रोहिंग्या मुसलमान हैं।


Also Read: बदायूं कांड: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, लापरवाह SHO पर गिरी गाज


पुलिस सूत्रों का कहना है कि फर्जी पासपोर्ट के मामले में लखनऊ में मुकदमा दर्ज हुआ है। इसकी जांच एटीएस कर रही है। जांच में तकनीकी सहायक के बैंक खाते से करीब डेढ़ करोड़ रुपये के लेनदेन की बात सामने आई है।


बता दें कि 29 दिसंबर को टेरर फंडिंग, हवाला और देश विरोधी तत्वों के संपर्क में होने की जांच कर रही एटीएस ने गोरखपुर में गोलघर के बलदेव प्लाजा स्थित नईम एंड संस मोबाइल शाप समेत फर्म की दो दुकानों पर छापा मारा था। आठ घंटे से अधिक समय तक चली छानबीन व पूछताछ के बाद टीम दुकान में लगे कंप्यूटर की हार्ड डिस्क और अन्य दस्तावेज कब्जे में लिए थे। 2018 में भी यहां एटीएस की टीम ने छापा मारा था।


Also Read: यूपी: गाड़ियों के बाद अब जूतों पर जाति का रंग, तलवे पर ‘ठाकुर’ लिखा देख भड़के लोग, FIR


एटीएस ने 24 मार्च 2018 को टेरर फंडिंग, हवाला कारोबार और देश विरोधी तत्वों के संपर्क में होने के संदेह में मोबाइल फोन के थोक कारोबारी नईम एंड संस के मालिक नईम के बेटों नसीम अहमद तथा अरशद को हिरासत में लिया था। फर्म के तीन प्रतिष्ठानों से 50 लाख रुपये से अधिक नकदी बरामद कर तीनों प्रतिष्ठानों से कंप्यूटर, हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव और अन्य दस्तावेज कब्जे में लिया था। इसके अलावा खोराबार और शाहपुर क्षेत्र से तीन अन्य लोग हिरासत में लिए गए थे।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

UP में माफियाओं के खिलाफ योगी का ‘ऑपरेशन नेस्तनाबूत’ जारी, मऊ के कुख्यात गैंगस्टर की करोड़ों की संपत्ति जब्त

Shruti Gaur

सहारनपुर: देर रात औचक निरीक्षण के लिए निकले SSP को ड्यूटी पर सोते मिले पुलिसकर्मी, लगाई क्लास

BT Bureau

वाराणसी पुलिस कमिश्नर की सराहनीय पहल, अपने काफिले के हूटर बजाने पर लगाई रोक, कहा – पुलिसकर्मी मेरे लिए ट्रैफिक ना रोकें

Shruti Gaur