सवर्ण जाति के लोगों ने किया दलित पुलिस कांस्टेबल की बारात पर धारदार हथियारों से हमला, जातिसूचक शब्दों के साथ दी गालियां

बीते दिनों में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जब किसी अनुसूचित जाति के युवक की बारात निकलने को लेकर बवाल न हुआ हो। कुछ ऐसा ही मामला एक बार फिर सामने आया है, जिसमें दलित कांस्टेबल की बारात पर गांव के ही सवर्ण जाति के लोगों ने धारदार हथियारों से हमला कर दिया।


धारदार हथियार से किया बारातियों पर हमला

यह पूरा मामला राजस्था के जोधपुर में आने वाले दुगर गांव का है। यहां एक दलित कांस्टेबल की बारात पर गांव के सवर्ण जाति के लोगों ने धारदार हथियारों से हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि मामला बिगड़ता देख मौके पर पहुंची पुलिस ने अपने पहरे में शादी की रस्में करवाईं।


Also Read: 7th pay commission: मोदी सरकार ने बढ़ाई मौद्रिक सीमा 5 गुना, इन कर्मचारियों को मिलेगा बंपर फायदा


मिली जानकारी के मुताबिक, लोरड़ी देजगरा के रहने वाले सवाईराम की शादी नेताराम मेघवाल की बेटी के साथ होनी थी। 9 फरवरी को देर शाम जैसे ही बारात दुगर गांव में पहुंची तो बाराती ढोल और डीजे बजाकर नाचने गाने लगे। तभी कुछ सवर्ण जाति के लोग आए और जातिसूचक शब्दों से उन्हें अपमानित करने लगे और धारदार हथियारों से हमला कर दिया।


Also Read: चुनाव से पहले PF खाताधारकों को मोदी सरकार देगी यह खुशखबरी!


पुलिस को दी गई शिकायत में सवाईराम ने कहा है कि सवर्ण जाति के लोग जातिसूचक शब्दों के साथ गालियां दे रहे थे और जब उन्हें ऐसा करने से मना किया गया तो उन लोगों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। सवाईराम के मुताबिक, इन लोगों ने बारत रुकवा दी और गाड़ी चला रहे ओमप्रकाश के साथ मारपीट भी की। बताया जा रहा है कि इस हमले में कई बारातियों को गंभीर चोटें आई हैं। वहीं, पुलिस ने इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के पहरे में ही शादी की रस्में करवाईं गई हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here