रावण को मिला इमरान का साथ, कहा – मिलकर लड़ेंगे बीजेपी से

कहावत है कि राजनीति में कोई किसी का सगा नहीं होता। इसके गलियारों में स्वार्थ साधने के लिए सिर्फ राजनीतिक रिश्ते ही पनपते हैं। ऐसे में मायावती को बुआ बोलने पर चंद्रशेखर को खरी-खोटी सुननी पड़ी। लेकिन इस बीच कांग्रेस अपनी राजनिति चमकाने के लिए भीम आर्मी के संस्थापक में काफी दिलचस्पी दिखा रही है।

 

कांग्रेस नेता इमरान मसूद ने कहा- हमारे मकसद एक

बता दें कि प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दिग्गज नेता इमरान मसूद ने कहा कि कांग्रेस और चंद्रशेखर बीजेपी को हटाने के लिए एक जैसा लक्ष्य साझा करते हैं। उन्होंने कहा कि मैं तो चंद्रशेखर जी के साथ पहले दिन से हूं…हम दोनों को मकसद भी एक है और दुश्मन भी और वो है बीजेपी।

 

Also Read :  सीलबंद मकान का ताला तोड़ना पड़ा महंगा, मनोज तिवारी के खिलाफ FIR दर्ज

 

मसूद ने कहा कि चंद्रशेखर मायावती का काफी सम्मान करते हैं लेकिन उनके खिलाफ मायावती के बयान ने उनकी उम्मीदों को बिखेर दिया है। कांग्रेस नेता मसूद ने विपक्ष के प्रत्याशित महागठबंधन को तोड़ने के लिए बीजेपी पर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया है। उनकी कहना है कि मायावती जी की तरह चंद्रशेखर ने विपक्ष की एकता की संभावनाओं पर खुशी जताई है।

 

मायावती ने की थी चंद्रशेखर की आलोचना

दरअसल, मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान चंद्रशेखर के सवाल पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए लोग मुझसे अब रिश्ता बनाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरा किसी के साथ भाई-बहन या बुआ-भतीजे का कोई रिश्ता नहीं है।

 

उन्होंने कहा कि सहारनपुर हिंसा में आरोपी चंद्रशेखर अब मुझसे रिश्ता दिखा रहा है, जबिक मेरा रिश्ता सिर्फ गरीबों से है। मायावती ने कड़े शब्दों में कहा कि ऐसे किसी भी व्यक्ति से मेरा कोई रिश्ता नहीं है, जो समाज में ऐसा काम करते हैं।

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here