यूपी: IPS एसोसिएशन ने कसी कमर, तीन जिलों में लागू हो सकता है पुलिस कमिश्नर सिस्टम

प्रदेश में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने के लिए एक बार फिर कवायद तेज हो गई है। राज्यपाल के हस्तक्षेप के बाद सक्रिय हुई आईपीएस एसोसिएशन ने 24 जनवरी को जनरल बॉडी मीटिंग बुलाई है। इसमें पुलिस कमिश्नर सिस्टम की रूपरेखा तय कर मुख्यमंत्री के सामने प्रस्तुतीकरण को लेकर चर्चा होगी।


आईपीएस एसोसिएशन तैयार करेगा प्रजेंटेशन

दरअसल, पुलिस सप्ताह के दौरान राज्यपाल राम नाईक ने रैति परेड में महाराष्ट्र की तर्ज पर यूपी के कम से कम तीन जिलों लखनऊ, कानपुर नगर और गाजियाबाद में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की वकालत की थी। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में भी यह मुद्दा उठा था लेकिन मुख्यमंत्री के सामने इस बारे में किसी ने अपनी बात नहीं रखी।


Also Read: UP में पुलिस कमिश्नर सिस्टम चाहते हैं राज्यपाल, IPS एसोसिएशन ने किया समर्थन, क्या मानेंगे IAS अधिकारी?


बता दें कि राज्यपाल ने इसके कुछ ही दिन बाद मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इसे लागू करने का सुझाव दिया था। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एसपी गोयल ग्रह विभाग के प्रमुख सचिव अरविंद कुमार को वह पत्र भेज दिया था। इसके बाद आईपीएस एसोसिएशन ने 24 जनवरी को जनरल बॉडी मीटिंग बुलाई है। माना जा रहा है कि फरवरी के पहले सप्ताह में मुख्यमंत्री के सामने पुलिस कमिश्नर सिस्टम का विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया जाएगा।


Also Read: यूपी: ऐसे DGP जिन्होंने पुलिसकर्मियों की गृह जनपद के पास तैनाती का लिया फैसला, कहा था ऐसा करने से अनुशासित रहते हैं पुलिसवाले


इससे पहले आईपीएस एसोसिएशन के सचिव नीलाब्जा चौधरी ने कहा है कि अगर राज्यपाल ने यह पत्र लिखा है तो एसोसिएशन उनका आभारी है और इसका समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि पुलिस कमिश्नर सिस्टम को दो कैडर के बीच की लड़ाई के रूप में देखा जाना बिल्कुल गलत है। यह व्यवस्था लोकहित में है और इससे किसी का नुकसान नहीं है। अगर ऐसा होता तो देश के कई बड़े शहरों में यह लागू नहीं होती।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें  फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here