आरक्षण नहीं बल्कि इस पर हो रही राजनीति समस्या है: मोहन भागवत

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने आज आरक्षण के मुद्दे पर कहा कि संघ के मुताबिक देश में आरक्षण समस्या नहीं बल्कि आरक्षण के नाम हो रही राजनीति समस्या का मुख्य कारक है।

 

भागवत ने बुधवार को नई दिल्ली में संघ की ओर से आयोजित भविष्य का भारत कार्यक्रम में पूछे गए प्रश्नों के तहत आरक्षण के सवाल पर ये बात कही। संघ प्रमुख ने कहा कि सामाजिक विषमता समाज में नहीं रहनी चाहिए। संघ संविधान सम्मत आरक्षण का समर्थन करता है। आरक्षण कब तक चलेगा इस पर विचार होना चाहिए। उन्होंने आरक्षण की सुविधा प्राप्त कर आरक्षित वर्ग में बन गए क्रीमिलेयर वर्ग का जिक्र करते हुए कहा कि ये क्रीमिलेयर को सोचना होगा वो स्वयं आरक्षण की सुविधा न लें। इसके लिए उचित फोरम पर विचार होना चाहिए।

 

एट्रोसिटी एक्ट की बाबत पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में संघ प्रमुख ने कहा कि अत्याचार किसी भी पर नहीं होना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद केंद्र सरकार द्वारा किए गए संशोधन पर उन्होंने खुलकर न बोलते हुए स्पष्ट किया कि कोई भी कानून सही ढंग से लागू होना चाहिए कानून का कहीं भी किसी भी तरह से दरुपयोग नहीं होना चाहिए। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि केवल कानून बनाने से काम नहीं चलेगा बल्कि समाज में एक सद्भाव का वातावरण तैयार करना होगा।

 

Also Read: गांव के लोगों का छल-कपट और प्रलोभन के जरिए ईसाई मिशनरियां करा रहीं धर्म परिवर्तन

 

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here