Breaking Tube
Police & Forces

बरेली: गोली लगने से सिपाही के बेटे की मौत, घर पर साफ कर रहा था तमंचा

bareilly

उत्तर प्रदेश के बरेली पुलिस लाइन में तैनात सिपाही के बेटे की तमंचा साफ करते समय गोली लगने से मौत हो गई है। वहीं, इस दर्दनाक हादसे के बाद से ही परिवार में कोहराम मचा हुआ है। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से तमंचा, ब्रस और रेगमाल बरामद कर लिया है। साथ ही शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।


सिपाही पिता बोला- कहां से इसके पास तमंचा आया

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मूलरूप से मुरादाबाद के रामनगर निवासी ज्ञानप्रकाश सिद्धू यूपी पुलिस में कांस्टेबल के पद पर तैनात हैं। वर्तमान में उनकी ड्यूटी बरेली पुलिस लाइन में चल रही है। पिछले करीब पंद्रह वर्षों से उनका परिवार अमरोहा के सुबोध नगर कॉलोनी में रहता है। परिवार में पत्नी शशि और दो बेटे हैं। एक बेटी थी जिसकी शादी कर दी है। बड़ा बेटा दीपक गोवा में निजी कंपनी में नौकरी करता है। जबकि छोटा बेटा विश्वदीप उर्फ मनी कक्षा दस का छात्र था। दीपक की शादी की बात चल रही। लिहाजा रविवार को गोदभराई की रस्में पूरी करने के लिए लड़की के घर जाना था। इसलिए दीपक भी घर आया हुआ है।


Also Read: हौसलों की नई उड़ान: डायल 100 में तैनात सिपाही प्रमोद कुमार बना SDO


घर में खुशी-खुशी कार्यक्रम की तैयारियां चल रहीं थीं, लेकिन शुक्रवार की सुबह विश्वदीप उर्फ मनी करीब साढ़े आठ बजे ट्यूशन पढ़कर घर पहुंचा। अपनी मां शशि से खाना के लिए कहा और सीधा मकान की तीसरी मंजिल पर बने कमरे में पहुंच गया। जहां थोड़ी ही देर बाद गोली चलने की आवाज सुनाई दी। परिजन ऊपर पहुंचे तो मनी लहूलुहान हालत में फर्श पर पड़ा था। यह देखकर परिजनों की चीख-पुकार मच गई। शोर सुनकर आसपास के लोग एकत्र हो गए। आनन-फानन में उसे जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


Also Read: कानपुर: लड़के ने फाड़े महिला इंस्पेक्टर के कपड़े, कार्रवाई की जगह पुलिस सुलह का बना रही दबाव



बेटे की मौत के बाद बदहवास सिपाही पिता ज्ञान प्रकाश सिद्दू बरेली से सीधे पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। जहां बेटे के शव देखकर फफक-फफक कर रो पड़े। बड़े बेटे दीपक और अन्य परिजनों ने उन्हें संभाला। इस दौरान पिता बोले कि मेरे पास एक लाइसेंसी असलहा है…। इसके पास तमंचा कहां से आ गया।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

VIDEO: अलीगढ़ में खाकी की सरेआम पिटाई, सिपाहियों में फैला दहशत का माहौल

BT Bureau

Special: जब बारात में कार ले जाने के लिए सुलखान सिंह के पास नहीं थे पैसे, पिता से बोले- बैलगाड़ियां हैं न, आपकी बहू इसी से विदा करा लाएंगे

Jitendra Nishad

मारे गए दलित युवक के पिता से इंस्पेक्टर ने कहा- किसी मुस्लिम का नाम ले लो, 10 लाख मुआवजा मिलेगा

Jitendra Nishad