Breaking Tube
Politics

विवेक की पत्नी का केजरीवाल को करारा जवाब, बोली- हर चीज को जातिवाद से नहीं जोड़ना चाहिए

लखनऊ के गोमती नगर इलाके में कथित रूप से पुलिस की फायरिंग में मारे गए एप्पल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के साम्प्रदायिकता वाले ट्वीट पर उन्हें करारा जवाब दिया है. कल्पना ने कहा “केजरीवाल जी ने इतने सिंसियर आदमी होकर ऐसी बाते करते हैं. इस समय मुझे सहानभूति की जरुरत है ये जातिवाद का कोई मामला नहीं हैं. हर चीज को जातिवाद से नहीं जोड़ना चाहिए. मोदी जी की सरकार में जातिवाद को कभी बढ़ावा नहीं मिला है. हर वर्ग का हर तबके का ध्यान रखा गया है. इस बात का ध्यान जितनी भी राजनीतिक पार्टियाँ हैं सभी को रखना चाहिए”.

 

 

विवेक तिवारी हत्याकांड पर सीएम अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट कर यूपी सरकार से सवाल पूछा  था कि “विवेक तिवारी तो हिन्दू थे? फिर उसको इन्होंने (यूपी पुलिस) ने क्यों मारा? भाजपा के नेता पूरे देश में हिन्दू लड़कियों का रेप करते घूमते है. अपनी आंखों से पर्दा हटाइये. भाजपा हिन्दुओं की हितैषी नहीं है. सत्ता पाने के लिए अगर इन्हें सारे हिन्दुओं का कत्ल करने पड़े तो ये दो मिनट नहीं सोचेंगे”

 

 

केजरीवाल के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर उनकी जमकर आलोचना हुई. केजरीवाल के इस ट्वीट का जवाब देते हुए दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तेजिन्दर पाल सिंह बग्गा ने भी ट्वीट किया है. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि “केजरीवाल जी अगर आप अपनी गटर लेवल पॉलिटिक्स से बाहर निकल कर आओ तो आपको बता दूं कि दोषियों को ससपेंड करके 24 घण्टे के अंदर जेल की सलाखों में डाल दिया गया, SIT गठन करके जांच शुरू करदी गयी और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा हो इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार कोई कसर नही छोड़ेगी”.

 

 

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी केजरीवाल पर हमला किया. उन्होंने लिखा “आप कार्यकर्ता देख लो ओछी सोच अरविन्द केजरीवाल की, जिसके कोम्प्रोमाईज़ कर लो बोलने पर सोनी की मौत संतोष कोहली की माता जी कसूरवार केजरीवल को सजा दिलाने के लिए लड़ रहीं हैं विवेक तिवारी की हत्या हुई है,कसूरवार को सज़ा मिलेगी..हम उसके परिवार के साथ खड़े हैं.”

 

 

बता दें कि यूपी पुलिस के एक कॉन्टेेबल ने शुक्रवार देर रात एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की गाड़ी नहीं रोकने पर गोली मारकर हत्याए कर दी थी. अब इस हत्या कांड के दोषी पुलिसकर्मियों को हत्याकांड में पर्दा डालने और आरोपियों को बचाने के लिए पुलिस पर हर तरह की चाल चलने का आरोप लगा है. विवेक को गोली मारे जाने के बाद पुलिस ने परिजनों से तहरीर लेने के बजाए आननफानन उनकी पूर्व सहकर्मी सना से ही मनमाफिक तहरीर लिखवाकर मुकदमा दर्ज कर लिया.

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

‘वनवास’ भोग रहे मोदी से पहली बार बढ़ीं थी जेटली की नजदीकियां, मुख्यमंत्री बनवाने में भी निभाया था अहम रोल

BT Bureau

महबूबा मुफ्ती ने किया तिरंगे का अपमान, बीजेपी नेता ने जम्मू कश्मीर हाउस के बाहर लगवाए पोस्टर

BT Bureau

आतंकवाद मिटाना है तो बंद करें सभी मदरसे और अल्पसंख्यक तुष्टीकरण: अश्विनी उपाध्याय

BT Bureau