Breaking Tube
Corona Government UP News

UP में अगस्त तक 10 करोड़ वैक्सीन लगाने का टारगेट, CM योगी ने कहा- जिलों को चिन्हित कर होगा 100 फीसद टीकाकरण

Yogi Adityanath Government

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर नियंत्रित करने और तीसरी से निपटने की तैयारी के साथ योगी सरकार जल्द से जल्द जनता को वैक्सीन का सुरक्षा कवच देना चाहती है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने वैक्सीनेशन (Vaccination) की रफ्तार और तेज करते हुए 3 महीने (जून, जुलाई और अगस्त) के भीतर 10 करोड़ वैक्सीन लगाने का निर्देश दिया है।


मुख्यमंत्री ने कहा है कि कुछ जिलों को चिन्हित कर वहां अभियान चलाकर 100 फीसद वैक्सीनेशन कराया जाए। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी है। 18 से 44 वर्ष तक के आयु वर्ग में भी 30 लाख से अधिक युवाओं को टीका लगाया जा चुका है। प्रदेश की बड़ी जनसंख्या को देखते हुए वैक्सीनेशन को और बड़े पैमाने पर तेजी के साथ करने की जरूरत है।


Also Read: यूपी: CM योगी का सख्त आदेश- CMO और डिप्टी सीएमओ को हर हाल में देनी होंगी OPD सेवाएं


उन्होंने कहा कि जून, जुलाई व अगस्त में 10 करोड़ प्रदेशवासियों के टीकाकरण का लक्ष्य रखकर काम किया जाए। जरूरत होने पर दो पालियों में टीके लगाने का काम कराया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीन की सप्लाई चेन को मजबूत रखें। वैक्सीन लगाने वालों को प्रशिक्षित कराया जाए। इस काम के लिए नर्सिंग के द्वितीय, तृतीय और अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों व पैरामेडिकल के द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों का प्रशिक्षण कराएं। प्रशिक्षण के दौरान यह भी बताया जाए कि वैक्सीन का वैस्टेज कम से कम हो।


सीएम योगी को बताया गया कि सामुदायिक, प्राथमिक, उप स्वास्थ्य केंद्रों, हेल्थ व वेलनेस सेंटर को मजबूत करने की नियमित समीक्षा की जा रही है। इसके लिए पूरे प्रदेश को पांच जोन में बांटा गया है। जिला स्तर पर निगरानी की व्यवस्था भी की गई है। कोविड बेड लगातार बढ़ाए जा रहे हैं। पीडियाट्रिक आइसीयू और नियोनेटल आइसीयू की स्थापना तेजी से कराई जा रही है।


Also Read: UP में शराब माफियाओं की कमर तोड़ने की तैयारी में योगी सरकार, बनाई ये योजना


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि सीएमओ, एसीएमओ और डिप्टी सीएमओ भी ओपीडी में मरीजों को देखें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी अपने भ्रमण कार्यक्रम के दौरान किसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी में एक-दो घंटे मरीजों को देखें। इससे स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सुविधाएं और बेहतर होंगी। अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर उपस्थित सभी डाक्टर, नर्सिंग स्टाफ और पैरामेडिकल स्टाफ एप्रेन पहनें और नेम प्लेट जरूर लगाएं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जय बाजपेई के ईनामी भाईयों ने किया सरेंडर, विकास दुबे का देते थे साथ

BT Bureau

मिर्जापुर: पुलिसवालों ने BJP नेता से साफ करवाया थाने का शौचालय, सदमा लगने से हुई मौत

BT Bureau

नौशाद पर NSA लगाने की कार्रवाई शुरू, 10-15 सालों से थूक लगाकर खिला रहा था रोटियां

BT Bureau