Breaking Tube
Crime UP News

सहारनपुर: PM मोदी और CM योगी पर किताब लिखने वाले प्रवीण कुमार खुद के धर्मांतरण से हैरान, डॉक्यूमेंट्स में मिली फोटो

Saharanpur Praveen Kumar conversion

राजधानी लखनऊ में 2 मौलानाओं जहांगीर काजी और मोहम्मद उमर गौतम की गिरफ्तारी के बाद जबरन धर्म परिवर्तन के मामले में एक के बाद एक नए मामले सामने आ रहे हैं। नोएडा और कानपुर के बाद अब सहारनपुर (Saharanpur) जनपद में धर्मांतरण (Conversion) का चौंकाने वाली घटना प्रकाश में आई है। यहां एक शख्स का धर्मांतरण भी हो गया और उसे इस बात की भनक तक नहीं लगी है। मामला तब सामने आया जब प्रवीण कुमार (Praveen Kumar) की फोटो धर्मांतरण के डॉक्यूमेंट्स पर मिली। ये प्रवीण कुमार वही शख्स हैं जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी किताब लिखी है। आशंका जताई जा रही है उनके नाम का इस्तेमाल विदेशी फंडिंग के लिए किया गया हो।


इस मामले में मीडिया से बातचीत में प्रवीण कुमार ने बताया कि उन्हें नहीं पता कि धर्मांतरण के डॉक्यूमेंट्स पर उनकी फोटो कहां से आई। प्रवीण कुमार का कहना है कि उनके हिंदू-मुस्लिम दोस्त हैं, लेकिन कभी किसी ने भी धर्म परिवर्तन करने के लिए उन्हें प्रेरित नहीं किया। उन्होंने कहा कि मैं एक पढ़ा-लिखा आदमी हूं, मैंने एजुकेशन से पोस्ट ग्रेजुएशन किया है और जल्द ही पीएचडी करने जा रहा हूं।


Also Read: धर्मांतरण रैकेट: लखनऊ की प्रियंका बनी फातिमा, बहला-फुसलाकर मोहम्मद फारूख ने बनाया मुसलमान


प्रवीण ने यह भी बताया कि उन्‍होंने ‘नमो गाथा मोदी एक विचार’ नाम से एक किताब लिखी है और दूसरी किताब ‘योगी राज से योगीराज’ तक लिखी है, जिसकी बिक्री ऑनलाइन काफी हुई हैं। जो फोटो प्रवीण कुमार की किताब पर है वही फोटो उस कार्ड पर भी है। लगता है कि धर्म परिवर्तन करने वाले गैंग ने विदेशी फंडिंग के लिए प्रवीण कुमार की फोटो का इस्तेमाल किया है।


Also Read: कानपुर: ‘इस्लाम कबूल लो या फिर मोहल्ला छोड़ दो’..मुस्लिम बाहुल्य इलाके में पलायन को मजबूर 10 हिंदू परिवार, सपा MLA पर भी लगाए गंभीर आरोप


प्रवीण कुमार ने बताया कि बुधवार की सुबह ही एटीएस की टीम भी आई थी और उनसे पूरी जानकारी करने के बाद गई। यही नहीं, उनके पास एडीजी ने भी पोन किया था। यह मामला सामने आने के बाद प्रवीण कुमार और उनका परिवार हैरान और परेशान हैं। प्रवीण के पिता राकेश कुमार ने बताया कि ऐसी कभी कोई बात हुई ही नहीं। उन्होंने आशंका जताई है कि कहीं न कहीं ये विदेशी फंडिंग के लिए की गई साजिश है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अखिलेश ने BJP से पूछा- कोरोना की मुफ्त वैक्सीन का वादा सिर्फ बिहार के लिए, UP व अन्य राज्यों के लिए क्यों नहीं?

Jitendra Nishad

मुकुल गोयल: मेरठ में तैनाती के दौरान बनाया था एनकाउंटर्स का रिकॉर्ड, मिल चुका है राष्ट्रपति पदक

Shruti Gaur

हाथरस केस: दंगा भड़काने की साज़िश के आरोपियों को जल्द रिमांड पर लेगी STF, हो सकते हैं कई खुलासे

BT Bureau