यूपी: दारोगा पीड़ितों का थाने में करता है ‘गालियों से स्वागत’, बोला- सिर फोड़कर आओ तभी तो हमें रुपए मिलेंगे

एक तरफ उत्तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने जनता के बीच विभाग की छवि सुधारने के लिए थानों में वेलकम डेस्क बनाने का फरमान जारी किया है। वहीं, दूसरी तरफ बरेली जिले के किला थाने में एक दारोगा मदद की आस लेकर आने वाले पीड़ितों का गालियों से स्वागत करता है। दारोगा की इस करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। महज 15 मिनट के इस वीडियो में दारोगा ने गालियों की झड़ी लगा दी।


पीड़ितों से दारोगा बोला- थाने में मारपीट करके आया करो

यही नहीं, थाने आने वाले पीड़ितों को दारोगा नसीहत देता है कि थाने में मारपीट करके आया करो, इससे डॉक्टर, वकील और पुलिस को रुपए मिलते हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बीते शुक्रवार की रात किला के जसोली में दो पक्षों के बीच कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने रात 11 बजे एक पक्ष को थाने में बैठा लिया। इस दौरान दोनों पक्ष के लोग थाने पहुंच गए और एक-दूसरे पर कार्रवाई की मांग करने लगे।


Also Read: DGP ने जारी किया आदेश, सिपाहियों से 8 घंटे ही कराई जाए ड्यूटी


इस दौरान गुस्साए दारोगा ने थाने के अंदर गाली-गलौच शुरू कर दी। दारोगा ने अभद्रता की सारी हदें पार करते हुए कहा कि थाने में मारपीट करके आया करो, इससे हमारी भी कमाई होती है। दारोगा ने कहा कि यहां जो आता है कुछ देकर ही जाता है।


Also Read: विवेक तिवारी हत्याकांड: आरोपी सिपाही प्रशांत की जमानत के बाद अब ख़ारिज हुई ये अर्जी


एसपी बोले- गाली-गलौच करने के लिए नहीं रखा थाने में

इस बीच भीड़ में खड़े एक युवक ने दारोगा से पूछ लिया कि क्या मारपीट से उनको रुपए मिलते हैं? इसपर दारोगा ने सीना चौड़ा कर कहा कि हां मिलते हैं रुपए। बता दें कि सोशल मीडिया पर वायरल 15 मिनट के वीडियो में दारोगा ने कई बार गालियां दी। इस दौरान दारोगा ने हवालात में बंद एक आरोपी को भी खरी-खोटी सुना डाली। सूत्रों ने बताया कि जिस दारोगा का वीडियो वायरल हुआ है, वह गढ़ी चौकी में तैनात है और कुछ समय पहले ही नवाबगंज से बरेली आया है।


Also Read: यूपी: सिपाही सिकंदर अली की मौत पर दु:ख जताते हुए एसपी ने दिया सुझाव, बोले- सिपाहियों के साथ ऑफिसर…


सूत्र बताते हैं कि इस दारोगा के बात करने का अंदाज ही कुछ ऐसा है। वहीं, एसपी सिटी अभिनंदन सिंह ने बताया कि किसी भी इंस्पेक्टर, दरोगा और सिपाही को थाने में गाली-गलौज करने के लिए नहीं रखा है। वीडियो की जांच कराई जाएगी। दोषी पाए जाने पर दरोगा के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here