Home Crime गाजियाबाद के मंदिर में समीर बनकर घुसा आस मोहम्मद, पिस्टल व चाकू...

गाजियाबाद के मंदिर में समीर बनकर घुसा आस मोहम्मद, पिस्टल व चाकू बरामद, महामंडलेश्वर बोले- मेरी हत्या करने की थी साजिश

Ghaziabad temple Aas Mohammad

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) जनपद के नर्मदेश्वर महादेव मंदिर में घुसे एक संदिग्ध मुस्लिम युवक को आस मोहम्मद (Aas Mohammad) को विदेशी पिस्टल और चाकू के साथ पकड़ा गया है। मंदिर में हिंदू रक्षा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी प्रबोधानंद गिरि महाराज ठहरे हुए हैं। उन्होंने बताया कि ये मुस्लिम व्यक्ति है और हिंदू बनकर मंदिर में घुसकर उनकी हत्या करना चाहता था। मामले की गंभीरता को देखते हुए मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

पूछने पर समीर बताया था नाम

महामंडलेश्वर प्रबोधानंद मूल रूप से बागपत जिले के रहने वाले हैं। ज्यादातर हरिद्वार आश्रम में रहते हैं। इस मंदिर के सेवादारों के बुलावे पर वे गाजियाबाद आए थे। जानकारी के अनुसार, गाजियाबाद में मसूरी थाना क्षेत्र के गांव इकला इनायतपुर में नर्मदेश्वर महादेव मंदिर है। मंदिर के सेवादारों ने बताया कि रविवार शाम एक व्यक्ति मंदिर में आया। उसने कहा कि वो महामंडलेश्वर प्रबोधानंद गिरि महाराज का शिष्य बनना चाहता है।

Also Read: अयोध्या से PFI का सदस्य मोहम्मद जैद गिरफ्तार, हिंदुओं के खिलाफ मुसलमानों को भड़काने व आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का केस दर्ज

उन्होंने बताया कि यह कहकर वो रात में मंदिर में ही रुक गया। सोमवार सुबह युवक पर कुछ शक हुआ। इसके बाद युवक के सामान की चेकिंग की गई तो बैग से एक पिस्टल, ग्लाइंडर, चाकू जैसे हथियार बरामद हुए। पूछताछ में इस शख्स ने अपना नाम समीर बताया, लेकिन आईडी प्रूफ से आस मोहम्मद लिखा था। सूचना पर पुलिस मंदिर में पहुंची और इस व्यक्ति को हिरासत में ले लिया।

एक लाख लेकर रेकी करने आया था आस मोहम्मद

महामंडलेश्वर प्रबोधानंद गिरि महाराज ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय जिहादी योजना के तहत आस मोहम्मद नामक व्यक्ति मेरी हत्या करने के इरादे से विदेशी पिस्टल-चाकू लेकर आया था। वो साधु-महात्मा वाली लुंगी बांधकर आया और अपना नाम समीर बताया। उसने सबके सामने कुबूल किया है कि मैं किसी सलीम नामक व्यक्ति से एक लाख रुपए लेकर आया हूं और कई दिन से महाराज की रेकी कर रहा हूं। पुलिस उसको पकड़कर ले गई है।

Also Read: RSS में घुसपैठ के लिए सेल तैयार कर रहा था PFI, 50 सदस्यों को दी जा रही थी ट्रेनिंग, मो. फैजान व सुफियान के वाट्सएप से मिले सबूत

महामंडलेश्वर ने कहा कि इस मामले के बाद पुलिस अधिकारी आए हैं। वे मेरी और मंदिर की सुरक्षा बढ़ाने का आश्वासन देकर गए हैं। मुझे पिछले डेढ़-दो साल से लगातार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर धमकियां मिल रही हैं। हरिद्वार धर्म संसद के बाद से मुझे सिर कलम करने तक की धमकियां मिलीं। रास्ते में मेरी गाड़ी पर इससे पहले हमला भी हो चुका है, लेकिन मैं बच गया।

दादरी का रहने वाला पकड़ा गया शख्स

गाजियाबाद के एसपी देहात डॉक्टर ईरज राजा ने बताया कि एक व्यक्ति को संदिग्ध सामान और विदेशी पिस्टल के साथ मंदिर के सेवादारों ने पकड़ा है। इस सूचना पर पुलिस तत्काल पहुंची। ये व्यक्ति पहले भी यहां आ चुका है और आश्रम में रहा था। उससे गहन पूछताछ की जा रही है।

Also Read: UP में PFI रच रहा था बड़ी साजिश, निशाने पर थे हिंदू इलाके व धार्मिक स्थल, दशहरा-दीपावली पर थी धमाके की तैयारी

उन्होंने बताया कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि उसका यहां आने का मकसद क्या था। इस मंदिर में जो भी श्रद्धालु आ रहे हैं, उनकी चेकिंग और जांच-पड़ताल के बाद ही एंट्री दी जाएगी। सुरक्षा के मद्देनजर फोर्स बढ़ा दी गई है। जो लड़का पकड़ा गया है, उसका नाम समीर सामने आया है और वो दादरी का रहने वाला है। वह हिंदू है या मुस्लिम इसकी जांच की जा रही है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Secured By miniOrange