Home Politics UP: राज्यसभा की वोटिंग के बीच सपा को बड़ा झटका, विधायक मनोज...

UP: राज्यसभा की वोटिंग के बीच सपा को बड़ा झटका, विधायक मनोज पांडेय ने पार्टी के मुख्य सचेतक पद से दिया इस्तीफा

MLA Manoj Pandey

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) को मंगलवार को बड़ा झटका लगा है। सपा विधायक मनोज पांडेय (SP MLA Manoj Pandey) ने पार्टी के मुख्य सचेतक पद से इस्तीफा (Resignation) दे दिया है। राज्यसभा चुनाव के मतदान के बीच उन्होंने अखिलेश यादव को इस्तीफा भेजा है। वह रायबरेली की ऊंचाहार विधासभा सीट से विधायक हैं। साथ ही सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं।

मनोज पांडेय ने सीएम योगी से की मुलाकात

मनोज पांडेय समाजवादी पार्टी के कद्दावर ब्राह्मण चेहरे के तौर पर जाने जाते थे। सपा सरकार में मंत्री और 3 बार विधायक रहे मनोज पांडेय विधानसभा में सपा के मुख्य सचेतक थे। उनकी गिनती अखिलेश के करीबी नेताओं में होती थी। मुख्य सचेतक के पद से इस्तीफा देने के बाद मनोज पांडे राज्यसभा चुनाव की वोटिंग के लिए विधानसभा पहुंचे। इस दौरान मीडिया कर्मियों ने उन्हें घेर लिया। इस्तीफे को लेकर उनसे सवाल किए, लेकिन वो बिना जवाब दिए निकल गए।

Also Read: UP: समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का निधन, लंबे समय से अस्पताल में थे एडमिट

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मनोज पांडेय ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की है। इस दौरान उनके साथ पूजापाल मौजूद थीं। मनोज पांडेय ने सदन में पहुंचने से पहले मंत्री दयाशंकर सिंह के घर गए। वहां उनसे मुलाकात की। अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि मनोज पांडेय जल्द बीजेपी के साथ नजर आ सकते हैं। अखिलेश यादव को लिखे पत्र में मनोज पांडेय ने कहा कि अवगत कराना है कि आपके द्वारा हमें समाजवादी पार्टी विधान मंडल दल उप्र विधान सभा का ‘मुख्य सचेतक’ नियुक्त किया गया था। मैं मुख्य सचेतक पद से इस्तीफा दे रहा हूं। कृपया इसे स्वीकार करने की कृपा करें।

कई और विधायकों ने दिखाए बागी तेवर

बता दें कि राज्यसभा चुनाव में मतदान के दौरान समाजवादी पार्टी के कई और विधायकों के बागी तेवर दिखे हैं। अमेठी गौरीगंज से सपा एमएलए राकेश प्रताप सिंह ने कहा कि मैं अंतरात्मा की आवाज पर मतदान करने जा रहा हूं। राकेश प्रताप सिंह के साथ अयोध्या के सपा एमएलए अभय सिंह भी मौजूद हैं। उधर, सपा चीफ ने मतदान शुरू होने से पहले मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता का लालच देकर तोड़-फोड़ करने में जुटी हुई है। किसी को पद का तो किसी को पैसे का लालच दिया जा रहा है, जिनको पद की ज्यादा लालसा होगी, वही जाएगा।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Secured By miniOrange