Breaking Tube
Crime International

पाकिस्तान में एक बार फिर मंदिर पर हमला, मुस्लिमों की भीड़ ने तोड़ी देवी-देवताओं की प्रतिमाएं, जमकर मचाया उत्पात, Video वायरल

Pakistan Attack on Temple

पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यकों पर कट्टरपंथियों का अत्याचार लगातार बढ़ता ही जा रहा है। एक बार फिर पाकिस्तान में हिंदुओं की दुर्दशा की तस्वीरें दुनिया के सामने आई हैं। यहां पंजाब प्रांत में मुस्लिमों की भीड़ (Muslim Mob) ने हिंदुओं के मंदिर (Attack on Temple) पर हमला कर दिया और वहां मौजूद देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को लाठी-डंडों से प्रहार कर क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान हालात इतने बेकाबू हो गए थे कि पुलिस भी मूक दर्शक बनकर सबकुछ देखती रही और अंत में हालात पर काबू पाने के लिए पाकिस्तानी रेंजर्स को बुलाना पड़ा। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।


घटना की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि मुस्लिमों की भीड़ ने बुधवार को मंदिर पर हमला कर दिया। यह मामला रहीम यार खान जिले के भोंग शहर का है, जो कि लाहौर से करीब 590 किलोमीटर की दूरी पर है। पुलिस के अनुसार, मुस्लिमों की भीड़ ने कथित तौर पर एक मदरसे के अपमान का बदला लेने के लिए मंदिर में तोड़फोड़ की।


Also Read: रिपोर्ट में खुलासा: ‘काफिर’ भारत का प्रतिनिधित्व कर रहा था दानिश सिद्दीकी, तभी तालिबानियों ने शव से की क्रूरता, शरीर मिले थे गोलियों और टायर के निशान


भोंग शहर में दशकों से हिंदू शांतिपूर्वक ढंग से रह रहे हैं। बीते हफ्ते एक 8 वर्षीय हिंदू बच्चे ने कथित तौर पर मदरसे की लाइब्रेरी में पेशाब कर दिया था, जिसके बाद इलाके में तनाव की स्थिति बन गई थी। बुधवार को सत्ताधारी पाकिस्तानी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के सांसद डॉ. रमेश कुमार वंकवनी ने अपने ट्विटर हैंडल से इस हमले का वीडियो ट्वीट कर पुलिस से तुरंत मौके पर पहुंचने की बात कही।


एक के बाद एक ट्वीट कर डॉ. रमेश कुमार वंकवनी ने कहा कि भोंग शहर में हिंदू मंदिर पर हमला किया गया। यहां कल से स्थिति काफी तनावपूर्ण है। स्थानीय पुलिस द्वारा की गई लापरवाही शर्मनाक है। वहीं, डिस्ट्रिक्ट पुलिस ऑफिसर (डीपीओ) असद सरफराज ने कहा कि पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित कर लिया है और भीड़ को भी तितर-बीतर कर दिया है।


Also Read: पाकिस्तान में बकरी के साथ नईम और उसके 4 साथियों ने किया गैंगरेप, मौत, यूजर्स ने इमरान खान से पूछा- क्या बकरी को भी पहनना चाहिए था हिज़ाब?


उन्होंने बताया कि रेंजर्स को बुलाया गया और मंदिर के चारों तरफ तैनात किया गया। इस इलाके में करीब 100 हिंदू परिवार रहते हैं और किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए पुलिस बल भी तैनात किए गए हैं। हालांकि, अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

दिल्ली हिंसा को लेकर बड़ा खुलासा, तबाही के लिए फिरोज खान की अवैध फैक्ट्री में तैयार किया गया था 60,000 ली. तेज़ाब

Shruti Gaur

दिल्ली: फर्जी CRPF जवान बनकर मेट्रो से घूमता था नदीम खान, CISF ने पकड़ा तो बतायी ये बातें

S N Tiwari

लखनऊ: हनुमान सेतु की 100 करोड़ से ज्यादा की जमीन कब्जाकर कबाड़ियों को बसाया, भूमाफिया मोहम्मद फरहान और बशीर पर FIR दर्ज

BT Bureau