नौकर की वफादारी और फिर गद्दारी’ आगे की कहानी होश उड़ा देने वाली

0
5

नई दिल्ली : 80 लाख रुपये लुटने से बचाने वाले नौकर को आस थी कि उसका मालिक कोई बड़ा इनाम देगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। मालिक ने खुश होकर नौकर को सिर्फ एक टीशर्ट गिफ्ट की। इससे नाराज नौकर ने मौका मिलने पर मालिक के 70 लाख रुपये चुराने की कोशिश की। ‘नौकर की वफादारी और फिर गद्दारी’ का यह पूरा मामला देश की राजधानी दिल्ली का है। नौकर इतनी बड़ी रकम उड़ाने के बाद बुराड़ी में छिपकर रह रहा था और आखिर पकड़ा गया।

 

जानकारी के मुताबिक, शिकायत पर दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने आजादपुर स्थित एक कंपनी मालिक के 70 लाख रुपये उड़ाने के मामले में मुख्य आरोपित घरेलू सहायक धान सिंह बिष्ट को भी गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से 50 लाख रुपये सहित खरीदी गई प्रॉपर्टी के कागजात और उड़ाई गई रकम से खरीदे गए इलेक्ट्रॉनिक सामान बरामद किए गए हैं। घरेलू सहायक को भगाने में मदद करने वाले धान सिंह के साथी याकूब को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। उसके पास से भी चार लाख और भागने में प्रयुक्त एक कार बरामद की गई थी।

 

अपराध शाखा के एडिशनल कमिश्नर राजीव रंजन ने बताया कि आजादपुर स्थित एक कंपनी के मालिक ने घरेलू सहायक धान सिंह बिष्ट को 27 अगस्त को एक पार्टी से 70 लाख रुपये लाने को भेजा था। इस बीच नौकर रुपये लेकर फरार हो गया था। इस संबंध में 19 सितंबर को मॉडल टाउन थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। इस दौरान धान सिंह के सहयोगी के बारे में जानकारी मिली, जिसके बाद पुलिस ने 21 सितंबर को याकूब को दबोच लिया था। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने 22 सितंबर को बुराड़ी से नौकर धान सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया।

 

Also Read: गोरखपुर: धोखाधड़ी मामले में भाई समेत गिरफ्तार हुए डॉ. कफील खान

 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुछ समय पहले बदमाशों ने धान सिंह से मालिक के 8 लाख रुपये लूटने का प्रयास किया था, लेकिन उसने रुपये बचा लिए थे। बदमाशों के हमले से धान सिंह की गर्दन पर 14 टांके आए थे। इस संबंध में मालिक ने मुकदमा भी दर्ज नहीं कराया था। धान सिंह को उम्मीद थी कि रुपये बचाने के लिए मालिक उसे बड़ा इनाम देगा, लेकिन इनाम के रूप में उसे सिर्फ एक टी शर्ट दी गई। वह इससे नाराज था।

 

Also Read: देवरिया: मोहर्रम के मातम में तलवार से छात्र का गला काटा, इलाके में सांप्रदायिक तनाव

 

बताया जा रहा है कि इस दौरान 27 अगस्त को पार्टी से मालिक के रुपये लेकर वह याकूब की कार से नैनीताल भाग गया था। कुछ दिन गांव में रहने के बाद वह 10 सितंबर को दिल्ली आ गया था। धान सिंह उड़ाए हुए रुपये से एक प्लॉट लेने के अलावा किराये के मकान में एलईडी टीवी, फ्रिज, पलंग सहित किचन का सामान खरीदकर अय्याशी से रह रहा था।

 

Also Read: मुजफ्फरनगर: पर्दे के रूप में इस्तेमाल करता था ‘तिरंगा’, आरोपी गिरफ्तार

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here