Breaking Tube
Police & Forces Social Media UP News

झांसी: कोरोना संक्रमित पत्नी और बेटी की देखभाल के लिए नहीं मिली छुट्टी तो CO मनीष चंद्र सोनकर का फूटा गुस्सा, बोले- सामंती विचारों से पीड़ित हैं SSP

Jhansi CO Manish Chandra Sonkar

उत्तर प्रदेश के झांसी (Jhansi) जिले में सीओ सदर (CO Sadar) के पद पर तैनात पीपीएस अधिकारी मनीष चंद्र सोनकर (Manish Chandra Sonkar) ने इस्तीफा दे दिया है। सीओ की पत्नी कोरोना पॉजिटिव हैं, इसलिए उन्होंने अपनी 4 साल की बच्ची की देखभाल के लिए 6 दिन का अवकाश मांगा था। लेकिन एसएसपी रोहन पी कनय ने अवकाश देने से साफ इंकार कर दिया, जिसके बाद सीओ मनीष चंद्र सोनकर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उधर, इस्तीफा देने के बाद एसएसपी ने सीओ को छुट्टी दे दी, लेकिन इसके साथ ही इस्तीफे की संस्तुति कर उसे राज्यपाल को भेज दिया।


इस घटना के बाद सीओ का पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि विपित्ताकाल में भी छुट्टी न देना मतलब साफ है कि इस प्रकार के आईपीएस (जो स्वयं कितना पुलिस ऑफिस आते हैं और क्षेत्र में निकलते हैं, ये जगजाहिर है) हमें अपने से कमतर मनुष्य समझते हैं और अभी भी कोलोनियल और सामंती विचारों से ही पीढ़ित है जिसने हमको इस कोरोनो काल में दुनिया में सबसे भयावह स्थिति पर ला दिया है।


Also Read: UP: संक्रमित जगहों पर नहीं लगाई जाए इन पुलिसकर्मियों की ड्यूटी, नोएडा पुलिस कमिश्नर का आदेश


जानकारी के अनुसार, सीओ मनीष चंद्र सोनकर ने यूपी एटीएस में रहते हुए आतंकवादियों के खिलाफ कई बड़े ऑपरेशन किए हैं। वह आईएसआईएस के खुरासान मॉड्यूल और नक्‍सलियों के खिलाफ कई ऑपरेशन कर चुके हैं। इस्‍तीफे के बाद सोशल मीडिया पर सोनकर का एक पत्र वायरल हुआ है जिसमें उन्‍होंने एसएसपी पर अमानवीय व्‍यवहार का आरोप लगाया है।


वायरल पत्र में सीओ ने लिखा कि पत्‍नी कोरोना संक्रमित हो गई थीं, घर में 4 साल की अकेली बच्‍ची की देखभाल के लिए उन्‍हें 1 से 6 मई तक की छुट्टी चाहिए थी लेकिन उन्‍हें छुट्टी नहीं दी गई। उन्‍होंने एक दिन पहले आए फॉलोअर के सहारे बच्‍ची को छोड़ना उचित नहीं समझा। इस बीच 2 और 3 मई को उनकी ड्यूटी बड़ागांव मतगणना केंद्र पर लगा दी गई।


Also read: नोएडा: कोरोना से दारोगा की मौत, संक्रमण की चपेट में 150 से अधिक पुलिसकर्मी


सीओ के मुताबिक उन्होंने चुनावी ड्यूटी के लिहाज से सारी व्यवस्थाएं बना दी। उसके बाद दो मई को उन्होंने फिर अवकाश मांगा लेकिन, अवकाश स्वीकृत नहीं हुआ। पत्नी की हालत खराब होने की वजह से वह ड्यूटी पर नहीं आए। उसके बावजूद उनको ड्यूटी पर आने के लिए लगातार मजबूर किया जा रहा था। एसएसपी रोहन पी कनय ने भी मोबाइल फोन पर उनको वापस ड्यूटी पर आने के लिए कहा।


उन्होंने इस पर असमर्थता जताते हुए इस्तीफा देने की बात कही। उसके बाद सीओ मनीष ने एसएसपी के व्हाटसएप पर ही इस्तीफा लिखकर भेज दिया। उधर, एसएसपी का कहना है कि मनीष चंद्र घर से अतिरिक्त फालोअर हटाए जाने से नाराज थे। ड्यूटी में भी लापरवाही बरती। तलब करने पर उन्होंने इस्तीफा लिखकर भेज दिया। उनके इस्तीफे को पुलिस मुख्यालय भेज दिया गया है। इस पूरे मामले पर एडीजी जोन कानपुर भानु भास्कर का कहना है कि मामला उनकी जानकारी में है और सहानुभूति पूर्वक उसे निपटाने की कोशिश की जा रही है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

गरीबों की जमीन हड़पने वाले आजम खान पर की ताबड़तोड़ कार्रवाई, रामपुर की जनता ने दूल्हे की तरह DM को विदा किया

BT Bureau

लखनऊ: बदमाश को घर से पकड़कर मुठभेड़ में गिरफ्तारी का दावा, कोर्ट के निर्देश पर इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

BT Bureau

अलीगढ़: अस्पताल में दारोगा की मौत, ऑक्सीजन न मिलने का आरोप लगाकर परिजनों ने काटा हंगामा, 4 बेटियों समेत 5 पर FIR

BT Bureau