Breaking Tube
Crime UP News

सहारनपुर में शुद्धिकरण के बाद युवक की घर वापसी, राजस्थान में मुस्लिमों ने तमंचे के बल पर कराया था धर्मांतरण

Saharanpur nitin pant

उत्तराखंड के एक युवक का राजस्थान के मेवात जिले में जबरन धर्म परिवर्तन कराने के मामले में गुरुवार को बजरंग दल हिंदुस्तान के पदाधिकारियों ने शुद्धिकरण कराकर उसकी फिर से हिंदू धर्म में वापसी कराई है। इसके बाद युवक को लेकर पदाधिकारी सहारनपुर (Saharanpur) एसपी सिटी के ऑफिस पहुंचे। इस दौरान जिस मदरसे में युवक नितिन पंत (Nitin Pant) को इस्लामी शिक्षा दी गई, उस पर कार्रवाई करने की मांग की। एसपी सिटी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।


जानकारी के अनुसार, उत्तराखंड के रहने वाले नितिन पंत पुत्र स्वर्गीय देवेंद्र पंत को बजरंग दल हिंदुस्तान के पदाधिकारी निपुण भारद्वाज व अन्य एसपी सिटी राजेश कुमार के ऑफिस लेकर पहुंचे। उन्होंने बताया कि नितिन पंत का राजस्थान के मेवात के गांव पंचगावा के मुस्लिम युवकों ने जबरन धर्म परिवर्तन कराया था। इसके बाद आरोपियों ने नितिन को पहले तो राजस्थान में रखा, वहां उसे कमरे में बंदकर मारपीट की जाती थी।


Also Read: लखनऊ: लोहिया संस्थान में जूनियर महिला डॉक्टर को बंधक बनाकर डॉ. मुईन ने की गंदी बात, व्हाट्सएप पर भेजता था अश्लील मैसेज, FIR दर्ज


इसके बाद मुजफ्फरनगर के एक गांव के मदरसे में भेज दिया गया। यहां पर नितिन पंत को जबरन इस्लाम की शिक्षा दी गई। इस दौरान नितिन ने विरोध किया तो उसे सहारनपुर के मदरसे में भेज दिया गया। पदाधिकारियों ने मांग की है कि मुजफ्फरनगर और सहारनपुर के इन मदरसों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाए। वहीं, निपुण भारद्वाज ने बताया कि नितिन पंत का शुद्धिकरण करने के बाद उसे वापस हिंदू बना दिया गया है। अब उसे उसके गांव भेजा जाएगा। शुद्धिकरण एक मंदिर में की गई।


Also Read: मिर्जापुर: हिंदू परिवार को लूटने के लिए राशिद ने धरा साधु का रूप, जीता विश्वास, फिर जेवर-पैसे लेकर हुआ फरार


मिली जानकारी के मुताबिक, उत्तराखंड के नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत 2010 में नौकरी की तलाश में राजस्थान के अलवर जिले में गया था। यहां उसे नौकरी नहीं मिली। इस बीच उसकी मुलाकात मेवात जिले के गांव पंचगाव के मुस्लिम युवकों से हुई। आरोप है कि इन लोगों ने उसका तमंचे के बल पर धर्म परिवर्तन करा दिया। मामले में सहारनपुर के एसपी सिटी राजेश कुमार ने बताया कि हिंदू संगठन के कुछ लोगों ने उनसे मुलाकात की थी। उन्होंने जो प्रार्थना पत्र दिया है, उस पर जांच के आदेश दे दिए हैं, जल्द ही इस मामले में कार्रवाई की जाएगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अमरोहा: पुलिस कस्टडी में दलित युवक की मौत, 8 पुलिसकर्मी निलंबित, 6 पर SC-ST समेत हत्या का मुकदमा दर्ज

BT Bureau

CAA प्रोटेस्ट: दिल्ली से PFI ने कई खातों में भेजे थे रूपये, हिंसा भड़काने के लिए तीन अन्य संगठनों ने दिया साथ

BT Bureau

लखनऊ में कोविड बेड की नहीं होगी होगी दिक्कत, अधिकारी खुद कराएंगे भर्ती, देखिए नाम और नंबर

Shruti Gaur