अब दुश्मनों की आएगी शामत, भारतीय सेना को मिलेंगी 73 हजार अमेरिकी एसॉल्ट राइफल्स

सुरक्षा की दृष्टि से भारत की ताकत अब और भी बढ़ने जा रही है. भारतीय सेना को जल्द ही करीब 73 हजार अमेरिकी एसॉल्ट राइफल्स मिलने जा रही हैं. भारत ने ये एसआईजी-716 ब्रांड की एसॉल्ट राइफल्स फास्ट-ट्रैक मोड से खरीदी हैं. माना जा रहा है कि ये राइफल्स अगले एक साल में भारतीय सेना को मुहैया करा दी जायेंगी.


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सीमा पर तैनात जवानों को इन 72,400 एसआईजी-716 राइफल्स से लैस किया जायेगा. जानकारी के मुताबिक यह डील अब तक के 20 सालों में सेना के इंफेंट्री सैनिकों के लिए एसॉल्ट राइफल्स की सबसे बड़ी व 90 के दशक के बाद के बाद दी गयी रायफल हैं.


जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में रक्षा मंत्रालय ने इंफेंट्री मॉर्डनाइजेशन के तहत सेना की इंफेंट्री बटालियन मे् पूरी तरह से इंसास राइफल्स की जगह सात लाख चालीस हजार (7.40 लाख) एसॉल्ट राइफल्स को खरीदने की मंजूरी दे दी है.


इन राइफल्स की कुल कीमत करीब 12,280 करोड़ रूपये है. इन राइफल्स को ‘बाय एंड मेक इंडियन’ (BUY AND MAKE INDIAN) कैटेगरी के तहत सेनाओं के लिए मुहैया कराई जायेंगी. इसके लिए स्वदेशी सरकारी और निजी क्षेत्र की कंपनियां इस खरीद प्रक्रिया में हिस्सा ले सकती हैं. यानि कोई भी भारतीय कंपनी कुछ गन्स को किसी विदेशी कंपनी से सीधे खरीदकर बाकी भारत में ही तैयार करेगी. माना जा रहा है कि ये राइफल्स 7.62 एमएम की होंगी. लेकिन क्योंकि इस प्रक्रिया में काफी लंबा वक्त लगता है, इसलिए फॉस्ट-ट्रैक तरीके से 72400 एसॉल्ट राइफल्स को सीधे अमेरिकी कंपनी से खरीदने का फैसला लिया गया है.


Also Read: लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान के लिए BJP का शंखनाद, संकल्प पत्र के लिए दस करोड़ लोगों से मांगेगी सुझाव


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here