Breaking Tube
Lifestyle

International Yoga Day 2021: योग निद्रा की प्राचीन पद्धति से बढ़ाएं अपनी ऊर्जा और मेंटल पॉवर, ऐसे करें अभ्यास

लाइफस्टाइल: शारीरिक और मानसिक तनाव को दूर करने के लिए योग बहुत ही अच्छा स्त्रोत माना जाता है. योग करने से हमें काफी सहायता मिलती है जिससे हम किसी भी प्रकार की बीमारी से बचे रहते हैं. आज 21 जून यानी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस है, जिसमें पूरा देश योग में सम्मिलित होकर योग की प्रक्रिया को करते और सीखते हैं. पिछले साल की तरह इस साल भी कोरोना वायरस महामारी के चलते अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ऑनलाइन ही मनाया जाएगा. योग तन मन को स्वस्थ रखने में सहायक है. इसलिए स्वामी विवेकानंद ने भी योग की महिमा बताते हुए इसे आयु की वृद्धि करने वाला माना जाता है. कोरोना में लोग भयंकर मानसिक दबाव, तनाव और डिप्रेशन से जूझ रहे हैं. यहां तक कि रिकवरी के बाद भी लोगों में बेचैनी और तनाव जैसी कई समस्याएं सामने आ रही हैं. ऐसे में योग निद्रा इस समस्या का हल करने में काफी सहायक हो सकती है. योग किसी भी प्रकार की निद्रा को लाने में काफी कारगर होती है, इसके जरिए मन-मस्तिष्क शांत होता है और आप अपने अंतर्मन में चल रही उहापोह को समझ पाते है और उसपर नियंत्रण हासिल कर पाते हैं. आइए जानते हैं निद्रा योग के अभ्यास का सही तरीका और योग निद्रा के लाभ…


योग निद्रा को करने का सही तरीका-


योगनिद्रा का अभ्यास खुली जगह पर करें. अगर आप इसे किसी बंद कमरे में करते हैं तो याद रहे कि कमरे के दरवाजे, खिड़की खुले रहें. जमीन पर दरी बिछाकर उस पर एक कंबल बिछाएं. अब ढीले कपड़े पहनकर शवासन में लेट जाएं.


दोनों पैर लगभग एक फुट की दूरी पर हों, हथेली कमर से छह इंच दूरी पर रखें और आंखें बंद कर लें. बॉडी को ढीला छोड़ें. सांस लें और छोड़ें. याद रखें कि शरीर को हिलाना नहीं है.


मन में चलने वाले विचारों को शांत करें. अब आंखें बंद रखते हुए ही ध्यान दाएं पैर और पंजे की तरफ लेकर जाएं और थोड़ी देर तक यहीं फोकस करें. इसके बाद दाएं घुटने और जांघों पर ध्यान केन्द्रित करें. यही तरीका बाईं तरफ भी अपनाएं.


इसके बाद प्राइवेट पार्ट, पेट, नाभि, चेस्ट, हाथ, हाथों की उंगलियों और चेहरे तक ध्यान ले जाएं. इसके बाद सांस छोड़ें और सांस भरें. इस दौरान महसूस करें कि अपनी किसी पसंदीदा शांत जगह जैसे कि शांत पहाड़ और शांत बीच के किनारे हैं.


अपने शरीर से ध्यान आसपास के वातावरण जैसे- हवा की सरसराहट, चिड़ियों और कोयल की आवाज, पेड़ों के हिलने की आवाज पर लगाएं. दाएं करवट लेटें और बाईं नाक के छिद्र से सांस छोड़ें. 5 से 10 मिनट बाद धीरे -धीरे आंखें खोलें.


Also Read: International Yoga Day 2021: इस खास योग को करने से तेज होगी आंखों की रौशनी, होंगे ये अचूक फायदे


Also Read: International Yoga Day 2021: योग करने से पहले और बाद में खाएं ये चीजें, इन चीजों से बनाएं दूरी


Also Read: International Yoga Day 2021: महिलाओं के लिए काम के हैं ये योगासन, पीरियड्स के दर्द से लेकर इन चीजों में लाभकारी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

खांसी की समस्या में औषधि है लाल मिर्च, बस इन चीजों के साथ करें इस्तेमाल

Satya Prakash

इस तरीके से मेकअप करना छीन सकता है आपके आँखों की ज्योति!

Satya Prakash

ब्रोकली सेहत के लिए है वरदान, इस बीमारी में करता है अचूक काम

Satya Prakash