गांव के लोगों का छल-कपट और प्रलोभन के जरिए ईसाई मिशनरियां करा रहीं धर्म परिवर्तन’

राजधानी लखनऊ के मीराबाई गेस्ट हाउस में रविवार को विश्व हिंदू परिषद ने प्रेस कांन्फ्रेस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने उत्तर प्रदेश में बड़े स्तर पर हो रहे धर्म परिवर्तन के मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि ईसाई मिशनरियां भोले भाले हिंदू समाज के लोगों खासकर जो गांवों में रहते हैं, उनके साथ छल, कपट और प्रलोभन के जरिए धर्म परिवर्तन की गतिविधि चला रहा है।

 

ईसाई मिशनरियां कर रही गुनाह

इस दौरान मिलिंद परांडे ने कहा संविधान के अनुच्छेद 25 (ए) के अनुसार, छल, कपट या प्रलोभन से धर्मांतरण करना गुनाह माना गया है। उन्होंने औषधि और जादुई उपचार अधिनियम (आपत्तिजनक विज्ञापन) 1954 के तहत भी धर्मांतरण को भी गुनाह माना गया है। उन्होंने कहा कि ऐसे गुनाह उत्तर प्रदेश में बहुत बड़ी मात्रा में कई ईसाई मिशनरी संगठन कर रहे हैं।

 

 

Also Read : ईसाई मिशनरी ने पूरे गांव का कराया धर्म परिवर्तन, 271 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पादरी फरार

 

विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश की सरकार से अपील करता हूं कि जो ऐसे गैर कानूनी काम, संविधान के विरोध के काम, हिंदू धर्म के विरोध के काम छल-कपट करके किए जा रहे हैं, ऐसी सारी संस्थाओं के ऊपर और मिशनरी संस्थाओं के ऊपर नकेल कसने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मैं ये अपील इसलिए कर रहा हूं ताकि यहा बहुमत में रहने वाले हिंदू समाज की और उनके धर्म-आस्थाओं की रक्षा की जाए।

 

Also Read : जौनपुर: ‘ईसाई मिशनरी’ का भांडाफोड़, दलितों को बनाते थे निशाना, संचालक व पादरी सहित 271 पर मुकदमे का आदेश

 

हिंदू धर्म पर आक्रमण किया हुआ- मिलिंद परांडे

मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि सरकार सबकी है जो हिंदू धर्म पर आक्रमण हुआ है, वही व्यवस्था बैठाने का प्रयास चल रहा है, जब व्यवस्था पक्की होगी तो धर्मांतरण नहीं होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि हजारों मुसलमान और ईसाई अब सम्पर्क कर रहे हैं कि उन्हें हिन्दू समाज में आना है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here