Breaking Tube
Politics UP News

UP में एमएसपी गारंटी के बावजूद 800 रुपए कम में धान बेचने को मजबूर किसान: प्रियंका गांधी

Priyanka gandhi

कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने किसानों के मुद्दे को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने बुधवार को एक वीडियो ट्वीट कर लिखा कि जब एमएसपी की गारंटी है तो यूपी में किसान धान को 800 रुपए कम दाम में बेचने को मजबूर हैं, जब एमएसपी की गारंटी खत्म हो जाएगी तो क्या होगा?


प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया कि भाजपा सरकार किसानों का हक मारने वाले बिलों पर सरकारी खाट सम्मेलन तो कर रही है लेकिन किसानों का दर्द नहीं सुन रही। यूपी में लगभग सभी जगहों पर किसान अपना धान 1868 रू/क्विंटल एमएसपी से 800 रू कम 1000-1100रू/क्विंटल पर बेचने को मजबूर हैं। ऐसा तब है जब एमएसपी की गारंटी है। सोचिए जब एमएसपी की गारंटी खत्म हो जाएगी तब क्या होगा?


बता दें कि प्रियंका गांधी ने इससे पहले भी धान किसानों की समस्या उठाई थी। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि उप्र के धान किसान बेहद परेशान हैं। धान की खरीद बहुत कम हो रही है। जो थोड़ी सी खरीद हो रही है उसमें रु 1200 से भी कम रेट मिल रहा है। यही धान कांग्रेस सरकार में रु 3,500 तक बिका था। नमी के नाम पर किसानों का शोषण हो रहा है। शायद पहली बार ऐसा है कि धान गेंहू से सस्ता बिक रहा है।


Also Read: Video: मैनपुरी में महिलाएं अखिलेश के करीबी सपा विधायक की गुंडई से त्रस्त, बोलीं- कहता है मोहल्ले में रहेंगे तो पैर छुएंगे ठाकुर


प्रियंका ने कहा कि ऐसे में तो किसान की लागत भी नहीं निकलेगी। किसान अगली फसल कैसे लगाएगा? बिजली बिल में लूट चल ही रही है। मजबूरन किसान कर्ज के जाल में फँसता जाएगा। उप्र सरकार तुरंत इसमें हस्तक्षेप कर किसान को सही दाम दिलाए वरना कांग्रेस पार्टी आंदोलन करेगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अजय कुमार लल्लू का योगी सरकार पर हमला, कहा- पूरे बुंदेलखंड को किसानों की कब्रगाह में तब्दील कर दिया

Jitendra Nishad

प्रियंका बोलीं- पहले की तरह घर में बैठी रह सकती थी, लेकिन बाहर निकली हूं क्योंकि आज देश संकट में है

BT Bureau

सोनभद्र: प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिजनों से की मुलाकात, बीजेपी ने बताया ‘राजनीतिक स्टंट’

BT Bureau