Breaking Tube
Government Jobs UP News

राजकीय माध्यमिक विद्यालयों के लिए चयनित 3317 अभ्यर्थियों को CM योगी ने दिया नियुक्ति पत्र

CM Yogi adityanath

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi adityanath) ने शुक्रवार को राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित 3,317 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरित किया। इसके लिए आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी ने पांच शिक्षकों को प्रतीकात्मक रूप से नियुक्ति पत्र दिया, जबकि बाकी सभी शिक्षकों को ऑनलाइन नियुक्ति पत्र जारी किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि नव चयनित शिक्षकों को नियमित रूप से स्कूल जाकर पठन-पाठन का माहौल बनाना चाहिए।


सीएम योगी ने इस अवसर पर कहा कि हमारी सरकार ने पिछले साढ़े तीन वर्षों में तीन लाख से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। इन भर्तियों में प्रक्रिया में कोई अंगुली नहीं उठा सकता है। सभी निक्तियों में पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता का ध्यान रखा गया है, यही हमारी पूंजी है।


Also Read: UP: 1536 थानों में ‘महिला हेल्प डेस्क’ का शुभारंभ, योगी बोले- महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान के लिए जो भी करना पड़े, सब करेंगे


उन्होंने कहा कि कोरोना काल में हमने तकनीक को बहुत नजदीक से जाना है। आनलाइन व्यवस्था का लाभ गरीबों को सीधे पहुंचाया जा रहा है। आनलाइन शिक्षा हो या गरीबों और बुजुर्गों तक लाभ पहुंचाने का कार्य हो, एक क्लिक में उनके खाते में राहत राशि पहुंचाई गई है। अब चयन प्रक्रिया में भी इसका लाभ पूरी पारदर्शिता के साथ मिल रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शिक्षक समाज का मार्ग दर्शक होता है। आज चयनित सभी युवाओं को इसे सिद्ध करना होगा। एक शिक्षक चाहे तो समाज की व्यवस्था में परिवर्तन ला सकता है। उन्होंने कहा कि आज आपरेशन कायाकल्प योजना के तहत स्कूलों में बुनियादी सुविधाएं दी जा रही हैं।


Also Read: UP: धान खरीद में अनियमितता पर CM योगी की बड़ी कार्रवाई, 5 केंद्र प्रभारी निलंबित, 199 पर विभागीय कार्रवाई


बता दें कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित सहायक अध्यापक के पद पर चयनित अभ्यर्थियों से 28 सितंबर से आठ अक्टूबर तक ऑनलाइन विकल्प वेबसाइट seceduonlineposting.up.gov.in के माध्यम से मांगे गए थे। दिव्यांग श्रेणी में चयनित अभ्यर्थियों, ऐसी महिला अभ्यर्थी जिनका बच्चा 40 फीसद दिव्यांग है, ऐसे अभ्यर्थी जिनके पति या पत्नी सेना में हैं, विधुर व विधवा जिन्होंने दूसरा विवाह नहीं किया है और एकल अभिभावक को स्कूल आवंटन में वरीयता दी गई है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

भारत का मुकुट मणि‍ है जम्मू-कश्मीर, सामान्य हालात होने पर फिर से दिया जायेगा राज्य का दर्जा: अमित शाह

S N Tiwari

चीन में बोलीं सुषमा- पाक नहीं ले रहा था कोई एक्शन, तभी करना पड़ा आतंकियों पर हमला

BT Bureau

बरेली: BJP विधायक ने की टॉप-10 कुख्‍यात पुलिसवालों की लिस्ट सार्वजनिक करने की मांग, पुलिस ने दिया ये जवाब

Jitendra Nishad