Home Crime बरेली: धर्मांतरण व गैंगरेप का मुख्य आरोपी अकलीम कुरैशी गिरफ्तार, 16 माह...

बरेली: धर्मांतरण व गैंगरेप का मुख्य आरोपी अकलीम कुरैशी गिरफ्तार, 16 माह तक हिंदू युवती को बंधक बनाकर किया शोषण, अम्मी कहती- सब्जी में गाय का मीट खिलाना

Bareilly akleem qureshi

उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) जनपद में 20 साल की युवती का अपहरण करने के बाद उसका धर्मांतरण (Conversion) कराने और 16 महीने तक बंधाक बनाकर गैंगरेप (Gangrape) करने के मुख्य आरोपी अकलीम कुरैशी (Main Accused Akleem Qureshi) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

अकलीम के दोनों भाई व बहन पुलिस की गिरफ्त से दूर

हालांकि, अकलीम के दोनों भाई और बहन अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। अन्य जो आरोपी फरार हैं, उनकी तलाश में पुलिस टीम लगी हुई है।

Also Read: Shraddha Walker Murder: पॉलीग्राफ टेस्ट में अफताब ने कबूली श्रद्धा के कत्ल और शव को ठिकाने लगाने की बात, बोला- कोई अफसोस नहीं

नशीला इंजेक्शन दिया, फिर बलात्कार किया

पीड़िता ने बताया कि वह बरेली के शाही कस्बे के हिंदू परिवार की रहने वाली है। जुलाई 2021 में उसका अपहरण शाही कस्बे में रहने वाले अकलीम कुरैशी ने किया था। अकलीम ने आखिरी बार उसे आगरा के एक में बंधक बनाकर रखा। उसने अपहरण करने के बाद पहले युवती को नशीले इंजेक्शन लगाकर बेहोश किया। इसके बाद उसने बंधक बनाकर युवती के साथ रेप किया। यही नहीं, आरोपी ने एक मौलवी के यहा युवती का धर्मांतरण कराकर जबरदस्ती उससे निकाह भी कर लिया।

अकलीम और उसके दोनों भाई करते थे गैंगरेप

पीड़िता के अनुसार, इसके बाद अकलीम उसे बिहार में किसी जगह ले गया, जहां उसके भाई-बहन भी साथ थे। वहां युवती को बंधक बनाकर प्रताड़ित किया जाता था। उसे बेरहमी से मारा-पीटा जाता था। एक छोटे से अंधेरे कमरे में बंधक बनाकर रखा जाता था। पीड़िता ने बताया कि हद तो तब हो गई जब अकलीम के साथ उसके दोनों भाई विसाल कुरैशी और शादाल भी मुझसे रेप करते थे। तीनों भाई जबरन मुझसे गैंगरेप करते। जब मैं विरोध करती, तो मुझे गालियां देते और बुरी तरह से मारते-पीटते। यह सिलसिला 16 महीने तक चलता रहा।

Also Read: औरैया: शहजाद राइन ने बहला-फुसलाकर हिंदू युवती से की लव मैरिज, 10 साल पत्नी की तरह रखा, अब बना रहा धर्मांतरण का दबाव

पीड़िता ने बताया कि एक दिन मुझे मौका मिल गया। उस समय घर में कोई नहीं था। ऐसा पहली बार हुआ था। मैंने किसी तरह खुद को बंधन मुक्त किया। चुपके से घर से बाहर निकल गई। रास्ते में एक मुस्लिम महिला मिली। मैंने जब अपनी आपबीती बताई, तो उन्होंने मेरी मदद की। मेरे पास बरेली अपने घर आने के लिए किराया तक नहीं था। इसके चलते मैंने भीख मांगी। मैं लोगों से कहती कि मुझे अपने घर जाना है, मैं परेशान हूं। मेरी मदद कर दो। मेरा पहना हुआ सूट भी फटा हुआ था। इसके बाद पैसे इकट्ठा होने पर मैं किसी तरह अपने घर पहुंची और अपनी मां को पूरी आपबीती सुनाई।

पीड़िता को गोमांस खिलाते था अकलीम 

पीड़िता ने बताया कि मैं बता नहीं सकती कि मैंने कितने जुल्म सहे हैं। कई बातें तो अब मुझे याद भी नहीं हैं। क्या-क्या मेरे साथ नहीं हुआ? सब कुछ मेरे साथ किया गया। मुझे गाय का मीट खिलाया जाता। मैं मना करती, तो अकलीम मुझे थप्पड़ ही थप्पड़ मारता। मैं जमीन पर गिर जाती। उसके बाद मुझे लातों से पीटता। अकलीम, उसके भाई और बहन भी गाली देकर बोलते कि यह ऐसे नहीं मानेगी। अकलीम की मां भी फोन पर कहती थी कि इसको सब्जी गाय के मीट की ही खिलाना। नहीं तो कमरे में बंद कर भूखी रखना। तीनों भाई और उनकी दोनों बहनें जानवरों की तरह मुझे टॉर्चर करते। मुझे एक कमरे से कभी निकलने नहीं दिया गया।

Also Read: कानपुर की हिंदू किशोरी को मो. फैज ने दी धमकी, बोला- निकाह करो वरना दिल्ली की श्रद्धा की तरह टुकड़े-टुकड़े करके फेंक दूंगा

इतना ही नहीं, रोज मुझे बाथरूम में ले जाया जाता। वहां कई-कई घंटे खून से सने हुए कपड़े धुलवाए जाते। मेरे हाथ दुखते पर क्या करती, मजबूरी थी। एक तरफ से मार झेलनी पड़ रही थी और दूसरी तरफ सजा के तौर पर ऐसा काम करना पड़ रहा था। अकलीम और उसके भाई जानवरों के कटान का काम करते थे। उनके खून से सने हुए सारे कपड़े मैं ही धुलती थी। विरोध करने पर गालियां मिलतीं। कभी अकलीम, तो कभी उसके भाई बाथरूम के बाहर ही कुर्सी डालकर बैठ जाते। जिससे कभी मैं उनके घर से भाग न जाऊं।

जब मुझे पीटा जाता, तो मैं अपने भाई और मम्मी का नाम लेकर याद करती। भगवान के हाथ जोड़ती कि हे भगवान मुझे बचा ले। तीनों लोग और उनकी बहन मुझे कहती किसी को भी याद कर ले, मगर तेरी यही ससुराल है। तुझे जिंदगी भर यहीं रहना है। ऐसे ही सब कुछ सहना है। अब तू हिंदू नहीं है। तेरा धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कराया जा चुका है।

Also Read: बरेली: मुस्लिम सहेलियों तरन्नुम-गजाला ने युवती को बनाया बंधक, भाई अकलीम ने किया रेप, फिर जबरन धर्मांतरण व निकाह, 6 के खिलाफ केस

24 नवंबर को पुलिस में दर्ज कराई थी शिकायत

इस मामले में पुलिस ने पीड़िता के बयान दर्ज कराए हैं। साथ ही पुलिस ने पीड़िता के कोर्ट में भी बयान कराए हैं। हालांकि, नामजद सभी 6 आरोपियों की अभी गिरफ्तारी नहीं हो पआी है। पीड़िता ने एसएसपी ऑफिस पहुंचकर 24 नवंबर को शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें शाही निवासी अकलीम, उसके भाई विसाल और शादाल पर धर्म परिवर्तन और गैंगरेप का आरोप लगाया था। अकलीम की बहन तरन्नुम और शाहीन और अपनी सहेली गजाला पर भी मारपीट, वीडियो बनाने, धर्म परिवर्तन का आरोप लगाकर उसने केस दर्ज कराया था।

मुस्लिम सहेलियों ने घर बुलाकर बनाया था बंधक

जानकारी के अनुसार, पीड़िता अपने घर में ही ब्यूटी पार्लर चलाती थी, जहां उसकी 2 मुस्लिम सहेलियां तरन्नुम और गजाला भी आती रहती थीं। इस बीच जुलाई 2021 को दोनों सहेलियां युवती को अपने घर ले गईं और वहां उसे बंधक बना लिया। इसके बाद वहां तरन्नुम का भाई अकलीम भी तमंचा लेकर पहुंच गया और उसने तमंच के बल पर युवती से रेप किया। इस दौरान अकलीम की बहनों ने उसकी अश्लील वीडियो भी बनाई। अकलीम ने धमकी दी थी कि अगर धर्म परिवर्तन से मना किया तो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Secured By miniOrange