Breaking Tube
Crime UP News

UP: गिरफ्तार अलकायदा आतंकियों का सामने आया कानपुर कनेक्शन, चमनगंज के हिस्ट्रीशीटर ने मुहैया कराई थी पिस्टल

Kanpur UP ATS

एटीएस ने रविवार को लखनऊ के ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के दुबग्गा इलाके से अलकायदा के दो आतंकी मिन्हाज अहमद और मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर को गिरफ्तार किया था। उनके ठिकाने से कुकर बम, विस्फोटक, आईईडी और एक पिस्टल बरामद हुई थी। जिसके बाद से टीमें इस बात का पता लगाने में जुट गईं थी कि आतंकवादियों ने पिस्टल कहां से खरीदी। जिसके बाद ये बात सामने आई कानपुर के चमनगंज इलाके से पिस्टल खरीदी थी। मामले में बिचौलिए और पिस्टल बेचने वाले को हिरासत में लिया गया है।


पूछताछ में बताया ये

जानकारी के मुताबिक, आतंकियों ने पूछताछ में बताया कि बरामद पिस्टल उन्होंने चमनगंज से एक शख्स से खरीदी थी। इसके लिए एक मुश्त रकम असलहा बेचने वाले को दिए थे। खरीदारी खुद आतंकियों ने कानपुर जाकर की थी। सौदा कराने वाले का भी नाम आतंकियों ने बताया है। पिस्टल बेचने वाले और बिचौलिए दोनों को एटीएस ने हिरासत में ले लिया है। पूछताछ जारी है। जल्द इनकी गिरफ्तारी संभव है।


आशंका ये भी है कि बरामद अन्य असलहा व बारूद भी कानपुर से ही सप्लाई किया गया है। इसकी तफ्तीश जारी है।  इधर, एटीएस ने एक हिस्ट्रीशीटर को उठाया है। जानकारी के मुताबिक पिस्टल इसी हिस्ट्रीशीटर ने आतंकियों को दी थी। अब जांच में पता चलेगा कि हिस्ट्रीशीटर ने खुद पिस्टल बेची थी या किसी दूसरे से दिलाई थी। 


ऐसे हुए गिरफ्तार

गौरतलब है कि एटीएस ने अलकायदा के अंसार गजवत-उल-हिंद से जुड़े दो आतंकवादियों (मिन्हाज अहमद और मसीरुद्दीन) को गिरफ्तार किया है। मिन्हाज अहमद के घर से विस्फोटक बरामद किए गए हैं। एडीजी ने बताया कि वे आतंकियों को रिमांड मे लेकर पूछताछ की जाएगी। आतंकियों के साथियों की तलाश जारी है। आतंकियों के कुछ साथी कानपुर में भी छिपे हुए हैं। आतंकी गतिविधियां पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा के पेशावर, क्वेटा से चलाई जा रही हैं। गतिविधियों को अंजाम देने के लिए, मिन्हाज अहमद और मसीरुद्दीन, एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे थे। लखनऊ, कानपुर में उनके साथी भी शामिल थे।


इसके साथ ही एडीजी ने ये भी बताया कि धमाके की योजना बनाने में सिराज अहमद का बेटा मिन्हाज अहमद जोकि रिंग रोड का रहने वाला है और अमीनुद्दीन का बेटा मसीरुद्दीन मुख्य भूमिका निभा रहे थे। इस आतंकवादी गिरोह में लखनऊ, कानपुर के इनके अन्य साथी भी शामिल हैं। इन सबके द्वारा उत्तर प्रदेश में मुख्यतः लखनऊ में कभी भी आतंकवादी घटना की जा सकती थी। जानकारी मिलने के बाद गंभीरता को देखते हुए आतंकवादियों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा टीमों का गठन कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।


Also Read: लखनऊ: काकोरी इलाके से अलकायदा के 2 आतंकी गिरफ्तार, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, सर्च ऑपरेशन जारी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

अलीगढ़: SSP कलानिधि नैथानी की अनोखी पहल, जवानों को इलाज के लिए न पड़े भटकना, पुलिस लाइन में बना डाला कोविड हॉस्पिटल

BT Bureau

तीन तलाक पीड़िताओं के हित में CM योगी का बड़ा फैसला, 6000 रुपए सलाना देगी सरकार

Jitendra Nishad

कानपुर: ‘मेरी आत्महत्या की वजह थाना प्रभारी हैं’.. सामने आया महिला सिपाही का सुसाइड नोट, मचा हड़कंप

BT Bureau