…और जब इमरान खान की पूर्व पत्नी पापा की आलमारी से कंडोम लेकर पहुंची थी कॉलेज

पाकिस्तान के प्रधानंत्री इमरान खान की दूसरी तलाकशुदा पत्नी रेहाम खान की आत्मकथा ने भारत ही नहीं पाकिस्तान और ब्रिटेन में भी तहलका मचाया हुआ है। इसमें उन्होंने अपनी जिंदगी से जुड़े कई पहलुओं और घटनाओं का जिक्र किया है। इसमें एक ऐसा वाक्या भी है जब इमरान खान की पूर्व पत्नी ने अपने पिता की अलमारी से कंडोम निकाले और कॉलेज लेकर पहुंच गईं थी।

 

सहेलियों के कहने पर कॉलेज लेकर पहुंची कंडोम

 

रेहाम कहती हैं कि किशोरावस्था में वह काफ़ी मुखर थीं और कॉलेज में लड़कियों के समूह को उन विषयों की जानकारी देती थीं जिनके बारे में उन्हें घर पर बिल्कुल भी नहीं बताया जाता। रेहाम के मुताबिक, उन्हें परिवारवाले और दोस्त काफी परिपक्व समझते थे। रेहान कहती हैं कि मैं अक्सर लड़कियों को जमा कर उनकी मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक समस्याओं पर भाषण देती थी और वो भी बिना मुस्कुराए।

 

उन्होंने पुरानी यादों को ताजा करते हुए कहा, ‘मुझे याद है कि कक्षा नौ में अपनी सहेलियों के अनुरोध पर मैं एक कंडोम लेकर अपने स्कूल पहुंच गई थी। होता ये था कि मेरे पिता अफ़ग़ान शरणार्थियों के लिए मुफ़्त मेडिकल कैंप लगाया करते थे और उनकी अलमारी में कंडोम के बड़े-बड़े कार्टन रखे होते है। बचपन में मुझे याद है कि हम उन्हें गुब्बारों की तरह फुलाया करते थे, बिना ये जाने कि उनका असली इस्तेमाल क्या है।”

 

Also Read : इमरान खान का PM मोदी को पत्र, कहा- हमें शांति चाहिए

 

उन्होंने कहा कि बड़ी अजीब बात है कि हमारे समाज में लड़कियों की 17-18 साल की उम्र में शादी तो कर दी जाती है, लेकिन उन्हें ये नहीं बताया जाता कि उनके साथ अब होना क्या है. उन्हें सेक्स, गर्भनिरोध या रिश्तों के बारे में कभी बताया ही नहीं जाता।

 

16 साल बड़े लड़के ने रखा था शादी का प्रस्ताव

 

रेहान पुराने बातों को याद करके बताती हैं कि सिर्फ 19 साल की उम्र में उनसे 16 साल बड़े, उनकी बुआ के बेटे एजाज़ रहमान ने उनके सामने शादी का प्रस्ताव रखा, जिसे उनके परिजनों ने स्वीकार कर लिया था। लेकिन पहले दिन से ही ये शादी चली नहीं और रेहाम को अक्सर घरेलू हिंसा का शिकार बनना पड़ा।

 

Also Read: शिवपाल का अखिलेश पर इशारों-इशारों में हमला, काम से बड़ा होता है इंसान पद से नहीं

 

रेहान खान के मुताबिक, ऐसा नहीं था कि उनके पहले पति उन्हें एक आदर्श और निपुण पत्नी बनाना चाहते थे। उन्होंने बताया कि उनके पति उन्हें हमेशा अपने काबू में रखना चाहते थे। रेहान कहती हैं कि सिर्फ घरेलू हिंसा ये नहीं होती कि कोई आप पर हाथ उठाए या आपके ऊपर कोई चीज उठाकर मार दे। घरेलू हिंसा शुरू ही होती है एक कंट्रोल सिचुएशन से।

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here