अगर घर में है AC या गाड़ी, तो वापस करना होगा राशन कार्ड, वरना दर्ज का केस, UP में जारी हुआ आदेश

 

जहां एक तरफ योगी सरकार लगातार लोगों की मदद को तैयार है वहीं दूसरी तरफ उन लोगों के खिलाफ भी लगातार कार्रवाई की जा रही है जो सरकार को ही धोखा दे रहे हैं. दरअसल, सरकार ने अभियान चलाकर ऐसे लोगों के राशन कार्ड वापस लेने के आदेश दिए हैं. जिसके क्रम में मुरादाबाद जिले में इसे लेकर गांव-गांव और मोहल्लों में मुनादी कराई जा रही है. डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने कहा है कि सरकार को धोखा देने वालों के खिलाफ और राशन कार्ड सरेंडर नहीं करने वालों के खिलाफ FIR दर्ज कराई जाएंगी.

डीएम ने जारी किए आदेश

जानकारी के मुताबिक, लगातार हो रही धोखाधड़ी को देखते हुए सरकार ने सस्तें खाद्यान के लिए सरकार ने पात्रता की शर्तें तय कर दी हैं. जिसके अंतर्गत ऐसे लोग जिनके पास 5 एकड़ भूमि है, चार पहिया वाहन है, शस्त्र के 2 लाइसेंस हैं या फिर घर में एसी लगा है, उन्हें सस्ता राशन अब नहीं दिया जाएगा. इसी के चलते सभी जिलो के डीएम ने भी कार्रवाई की शुरुआत कर दी है. मुरादाबाद के जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि अभी तक जिले में 3000 लोगों ने अपने राशन कार्ड सरेंडर किए हैं. बाकी सभी से भी तुरंत राशन कार्ड सरेंडर करने के लिए कहा गया है.

डीएम ने कहा कि जो लोग पात्रता की शर्तें पूरी नहीं करते, उन्हें तुरंत अपने राशन कार्ड सरेंडर करने होंगे. ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. ऐसे कार्ड धारकों से उतने राशन के जितनी रकम वसूल की जाएगी जो उन्होंने कार्ड पर लिया होगा. इसके साथ ही उनके खिलाफ FIR भी दर्ज कराई जाएगी.

जांच कर रहीं कई टीमें

डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने कार्ड धारकों की जांच के लिए टीमों का गठन किया है. पूर्ति विभाग के साथ ही इसमें रेवेन्यू विभाग के अधिकारियों को भी लगाया गया है. डीएम ने कहा कि टीमें जल्द यह छांट लेंगी कि जिले के कुल राशन कार्ड धारकों में पात्र कार्ड धारकों की संख्या के कितनी है.

Also Read: ‘कैराना और बंगाल की तरह यहां भी हिंदुओं को भगा देंगे’, बरेली में BJP बूथ अध्यक्ष के घर पत्थरबाजी, घर में घुसकर अब्दुल हामिद ने साथियों संग पीटा

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )