फीस जमा न करने पर छात्रा को किया लाइब्रेरी में बंद

0
8

वसुंधरा के जयपुरिया स्कूल में बृहस्पतिवार को फीस जमा न करने पर नौवीं की छात्रा को लाइब्रेरी में बैठाने पर जमकर हंगामा हुआ। अभिभावकों ने पैरेंट्स एसोसिएशन के साथ दो घंटे तक स्कूल प्रबंधन का घेराव कर जमकर नारेबाजी की। मामला तूल पकड़ता देख पुलिस स्कूली पहुंची और अभिभावकों-स्कूल प्रबंधक के बीच बैठक कराई। पैरेंट्स एसोसिएशन के मुताबिक प्रिंसिपल ने माफी मांगकर बच्ची को कक्षा में बैठा दिया। इसके बाद अभिभावक लौट गए।

 

अभिभावकों ने बताया कि उनकी बेटी स्कूल में नौंवीं कक्षा की छात्रा है। सुबह करीब दस बजे बेटी ने स्कूल से रोते हुए फोन किया कि फीस न भरने के कारण स्कूल प्रबंधन ने उसे लाइब्रेरी में बैठा दिया। उसका रुटीन एग्जाम भी छूट गया है। वह काफी परेशान है। इसके बाद वे पैरेंट्स एसोसिएशन के साथ स्कूल पहुंचे और हंगामा कर स्कूल प्रबंधन का घेराव किया।

 

उनकी सूचना पर करीब दो घंटे के हंगामे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने अभिभावकों और स्कूल प्रबंधन के बीच बैठक कराई। पैरेंट्स एसोसिएशन के मुताबिक बैठक में प्रिंसिपल ने गलती मानकर बच्ची को कक्षा में बैठा दिया। साथ में यह भी कहा कि अगले दिन छात्रा का एग्जाम करा दिया जाएगा।

 

Also Read : जब शौचालय को ही युवती ने बना लिया अपना आशियाना

 

इसके बाद अभिभावक लौट गए। मामले में इंदिरापुरम थाना सब इंस्पेक्टर नरपाल सिंह का कहना है कि फीस जमा न करने पर बच्ची को लाइब्रेरी में बिठाने की सूचना मिली थी। इस पर पुलिस स्कूल पहुंची और दोनो पक्षों में बात कराई। स्कूल प्रशासन ने अपनी गलती मानते हुए बच्ची को कक्षा में बैठा दिया।

 

प्रिंसिपल मंजु राना का कहना है कि नए अध्यादेश के हिसाब से ही स्कूल प्रबंधन फीस ले रहा है। जिन अभिभावकों ने बच्चों की फीस पहले भरी थी उनके उनके बैलेंस को आगे की फीस में एडजस्ट किया जा रहा है।

 

स्कूल प्रबंधन ने कुछ बच्चों की अधिक फीस भी लौटाई है। लेकिन ऐसे अभिभावक भी जिन्होंने अप्रैल, पहले क्वार्टर की ही फीस नहीं भरी है, अब दूसरा क्वार्टर आ गया है। बस की फीस स्कूल प्रबंधन नहीं लेता। आगे से कोशिश रहेगी कि बच्चों को फीस के लिए परेशान न किया जाए।

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here