मेरठ: मस्जिद में रुककर इस्लाम का प्रचार कर रहें थे विदेशी मुस्लिम नागरिक, वापस भेजने के विरोध में उतरे स्थानीय लोग, 18 की वतन वापसी

0
18

उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जिले में टूरिस्ट वीजा (Tourist Visa) पर जमात के नाम पर मस्जिदों (Masjid) में इस्लाम का प्रचार कर रहे 18 विदेशी मुस्लिम नागरिकों (Foreign Muslim Citizens) को अभिसूचना इकाई एवं पुलिस ने वापस उनके वतन भेज दिया है. दरअसल, ये लोग मलेशिया, म्यांमार एवं इंडोनेशिया से टूरिस्ट वीजा पर आकर इस्लाम (Islam) के प्रचार करने के लिए मस्जिदों में रुके हुए थे. दरअसल, इस बार जिले में टूरिस्ट वीजा पर आकर इस्लामिक प्रचार प्रसार को लेकर प्रशासन ने विदेशी नागरिकों पर शिकंजा कसा है. इससे पहले ऐसे लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं होती थी. वहीं, मंडावर से थाईलैंड एवं मलेशिया के 14 विदेशी लोग तथा कोतवाली शहर के गांव मुस्तफाबाद से 15 से 20 लोगों को उनके देश भेजा गया था.


बता दें कि एलआईयू (LIU) एवं पुलिस की नजर जिले के किरतपुर के मोहल्ला काजीयान स्थित मरकज मस्जिद में टिके 11 विदेशी एवं नजीबाबाद के मोहल्ला पठानपुरा की मरकज जामा मस्जिद में टिके 7 विदेशी नागरिकों पर पड़ी. इनमें मलेशिया के 6, इंडोनेशिया के 5 तथा म्यांमार के 7 लोग शामिल थे. ये सभी लोग टूरिस्ट वीजा पर मस्जिदों में जमात के रूप में ठहरे हुए थे. वहीं, पुलिस प्रशासन ने जब इन लोगों को वापस वतन जाने को कहा तो कुछ स्थानीय लोग उनके पक्ष में उतर आए. पुलिस ने इन्हें नोटिस देकर रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी शुरू कर दी तो सभी लोग अपने वतन को वापस चले गए.


पुलिस के मुताबिक यह सभी विदेशी लोग जिले में प्रवास के दौरान धार्मिक गतिविधियों में लिप्त थे तथा वीजा नियमों का उल्लंघन कर रहे थे. एसपी संजीव त्यागी के निर्देश पर इन सभी को वीजा का उल्लंघन करने पर इन्हें वापस जाने की हिदायत दी गई थी, तब जाकर ये वापस अपने देश को गए हैं. इन विदेशी नागरिकों को भविष्य में टूरिस्ट वीजा पर जमात के रूप में न आने की हिदायत दी गई है. अगर ये लोग फिर से आते हैं तो इन पर सख्त कार्रवाई होगी. साथ ही टूरिस्ट वीजा पर धार्मिक प्रचार-प्रसार अगर कोई करता मिला तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.


वहीं, पुलिस ने जिन को वतन वापसी के लिए भेजा है उनके नाम इंडोनेशिया के मो. सैय्यद, सोनी विर्नाटो, इमरान मतजम, टोटोप टोपियाह सेंसुई, युसपर, मलेशिया के महत बिन हसन, डजेनल बिल रहमान, टुकीरम बिन रमली, मो. शाहिजन बिन सबन, जमील, फुजी बिन अब्दुल्लाह, म्यांमार निवासी खिन मेउंग, क्यो हिट हलिंग, कोको विन, ओंगटुन, एये कोको हैं. इससे पहले यूपी के बिजनौर जिले से ऐसा मामला सामने आया था.


Also Read: बिजनौर: मस्जिद में रुके थे विदेशी मुस्लिम नागरिक, कर रहे थे इस्लाम का प्रचार, नोटिस जारी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here