श्लोक नहीं सुना पाने पर मांझे से बांधा प्राइवेट पार्ट फिर पीटा

अक्सर स्कूलों में टीचर की पिटाई की मामले खबरों की सुर्खियां बन जाते हैं। जिसके बाद स्कूल प्रशासन की काफी फजीहत होती है। लेकिन महाराष्ट्र के पुणे में स्कूली बच्चों के साथ एक ऐसा मामला सामने आया है जिसको सुनकर हर माता-पिता की रूह कांप जाएगी। यहां पर श्लोक ठीक से नहीं पढ़े जाने पर टीचर ने दो बच्चों के प्राइवेट पार्ट को पतंग उड़ाने वाले मांझे से कसकर बांध दिया, जिसकी वजह से बच्चों के प्राइवेट पार्ट में काफी चोटें आई हैं और बच्चों की तबियत काफी बिगड़ गई है।

 

पुणे के गणेश वेद पाठशाला का मामला

दरअसल, यह पूरा मामला पुणे के गणेश वेद पाठशाला का है। बता दें कि यह एक आवासीय स्कूल है और इस स्कूल में वैदिक शिक्षा दी जाती है। अंग्रेजी अखबार द टेलीग्राफ में छपी खबर के मुताबिक, स्कूल में पढ़ने वाले नौ और दस साल के दो बच्चे रात के खाने से पहले श्लोक नहीं पढ़ पाए।

 

Also Read : PM मोदी से सम्मानित छात्रा से गैंगरेप, मां ने पूछा- कैसे पढ़ाएं और बचाएं बेटी

 

इस मामूली सी बात पर स्कूल के 40 वर्षीय टीचर सुधीर कुलकर्णी ने नाराजगी दिखाते हुए बच्चों को सजा देने का फैसला कर लिया। इसके बाद टीचर ने दोनों बच्चों के प्राइवेट पार्ट को मांझे के कस दिया और दोनों की जमकर पिटाई भी की। बता दें कि मांझा कांच और गोंद से बनाया जाता है। इस मांझे की वजह से बच्चों के प्राइवेट पार्ट में काफी चोटें आई हैं जिसकी वजह से उन्हें फीवर आ गया।

 

अस्पताल में बच्चों ने बताई आपबीती

घटना की जानकारी पर स्कूल पहुंचे परिजनों के सामने बच्चों ने टीचर की बर्बरता बयां की। जिसके बाद परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी। शिकायत मिलने पर पुलिस ने आरोपी टीचर सुधीर कुलकर्णी को शुक्रवार की शाम गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक, दोनों बच्चे चचेरे भाई हैं और महाराष्ट्र के अकोला के निवासी हैं।

 

Also Read : भाजपा विधायक ने पार्टी को किया कटघरे में खड़ा, बताया- बेरोजगारी को बढ़ते रेप की मुख्य वजह

 

बता दें कि स्कूली बच्चों से बर्बरता का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी साल 2009 में दिल्ली के एक प्राइमरी स्कूल में महिला टीचर ने एक बच्ची को बुरी तरह पीटा था और उसे एक घंटे तक धूप में खड़ा कर दिया था। जिसकी वजह से बच्ची की हालत काफी बिगड़ गई थी और अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया था।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here