मुस्लिम शिक्षक का वंदे मातरम कहने से इंकार, ‘हम अल्लाह में विश्वास करते, यह हमारी मान्यता के खिलाफ है’

बिहार के कटिहार जिले में एक मुस्लिम शिक्षक की पिटाई का मामला सामने आया है. ख़बरों के अनुसार, मामला 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस का है.
स्थानीय लोगों का कहना है कि, मुस्लिम शिक्षक की पिटाई ध्वजारोहण समारोह के बाद वंदे मातरम कहने से इनकार कर करने पर हुई है. ख़बरों के मुताबिक पीड़ित शिक्षक का नाम अफजल हुसैन है. हुसैन को स्थानीय लोगों द्वारा पीटे जाने का वीडियो वायरल हो रहा है. हुसैन प्राथमिक स्कूल में शिक्षक है.


Also Read: Facebook Love: पानीपत में प्यार की लड़ाई, नाबालिग से शादी करने पर अड़ी युवती ने पंचायत बुलाई


हुसैन का कहना है कि उसने वंदे मातरम इसलिए नहीं गया क्योंकि यह उसकी धार्मिक मान्यता के खिलाफ है. हुसैन का कहना है, “हम अल्लाह में विश्वास करते हैं और वन्दे मातरम हमारी मान्यता के खिलाफ है. इस शब्द का अर्थ है भारत माता की वंदना (हिंदी में स्तुति), जिसे हम नहीं मानते.” हुसैन का कहना है, “संविधान में ये कहीं नहीं लिखा है कि वंदे मातरम कहना जरूरी है. मेरी जान जा सकती थी.”


Also Read: हिंदू कल्याण महासभा का वैलेंटाइंस डे ऑफर: मुस्लिम युवती से शादी करो, पैसा और प्रोटेक्शन दोनों पा


वंदे मातरम की बेइज्जती किसी भी कीमत पर माफ नहीं: शिक्षा मंत्री

इस मामले पर बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णा नंदन प्रसाद वर्मा ने कहा कि, उन्हें ऐसी घटना से संबंधित कोई शिकायत नहीं मिली है. अगर ऐसा कुछ भी हुआ है तो एक्शन लिया जाएगा. वंदे मातरम की बेइज्जती किसी भी कीमत पर माफ नहीं की जाएगी. वहीं इस मामले पर अधिकारियों का कहना है कि, अभी तक उन्हें इस बात की कोई शिकायत नहीं मिली है। उनके पास शिकायत आते ही इस मामले में जांच की जाएगी.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here