गो सुरक्षा से लेकर मदरसों के आधुनिकीकरण पर जोर, सबका साथ सबका विकास वाला बजट

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने आज अपना तीसरा बजट पेश किया. योगी सरकार की ओर से गुरुवार को यूपी विधानसभा में वित्‍त मंत्री राजेश अग्रवाल ने साल 2019-20 बजट (UP Budget 2019-20) पेश किया. योगी सरकार ने इस बार 4 लाख 70 हज़ार 684 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. चुनावी साल के इस बजट में सरकार ने हर तबके को साधने का प्रयास किया है. यह पिछले साल 2018-19 के बजट से 12 फीसदी ज्यादा है.


योगी के इस बजट में गो कल्याण से लेकर मदरसों के आधुनिकीकरण सब पर ध्यान दिया गया. सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र को साधती हुई दिखाई दी. बजट में अरबी-फारसी की तालीम देने वाले मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 459 करोड़ रुपए दिए गए हैं. वहीं अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को वजीफे के लिए 942 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है.


वित्त मंत्री ने कहा कि प्रदेश में मदिरा की बिक्री पर विशेष फीस अधिरोपित की गई है, जिससे प्राप्त होने वाले अनुमानित राजस्व 165 करोड़ रुपये का उपयोग प्रदेश के निराश्रित एवं बेसहारा गौवंश के भरण-पोषण के लिए किया जाएगा.



बजट में ग्रामीण क्षेत्रों में गौवंश के रख-रखाव और गौशाला निर्माण कार्य के लिए 247.60 करोड़ रुपये और शहरी क्षेत्रों में कान्हा गौशाला एवं बेसहारा पशु आश्रय योजना के लिए 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है. पंडित दीन दयाल उपाध्याय लघु डेयरी योजना के संचालन के लिए 64 करोड़ रुपये की व्यवस्था है, जिसके अंतर्गत 10 हजार इकाईयों की स्थापना किया जाना प्रस्तावित है.


Also Read: मिशन ‘अबकी बार 74 पार’ के लिए नए तेवर से यूपी को मथेंगे मोदी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here