यूट्यूब पर नहीं मिला वीडियो तो 3300 मील ड्राइव कर तोड़फोड़ करने पहुंचा गूगल हेडक्वार्टर

पिछले साल गूगल के हेडक्वार्टर पर हमले के बाद एक फिर एक वैसा ही मामला सामने आया है, जहां एक व्यक्ति 3 बेसबॉल के बैट के साथ गूगल के हेडक्वार्टर पहुंच गया. 33 वर्षीय कायली लॉन्ग का आरोप है कि ऑनलाइन वीडियो चैनल यूट्यूब ने उसका वीडियो हटा दिया है. जसके बाद गुस्साए कायली अपने में शहर से 3300 मील तक ड्राइव कर गूगल के ऑफिस पर तोड़फोड़ करने पहुंच गया. तोड़फोड़ करने के इरादे से आये कायली के कार से 3 बेसबॉल के बैट बरामद हुए जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है.


पुलिस का कहना है कि कायली ने अपने यूट्यूब चैनल के संबंध में गूगल के अधिकारियों से मीटिंग की मांग की थी जिसे यूट्यूब ने ठुकरा दिया था. मांग ठुकराए जाने के बाद गुस्साए कायली ने यह कदम उठया. दरअसल कायली का कहना है कि यूट्यूब पर उसकी वीडियो हजारों डॉलर की कमाई करती, लेकिन कायली को जब अपने चैनल पर वीडियो नहीं मिला तो वह सीधे गूगल हेडक्वार्टर पहुंच गया.


Also Read: लोकसभा चुनाव: पीएम मोदी ने बॉलीवुड स्टार्स को ट्वीट करके कहा- ‘अपना टाइम आ गया


बीवी ने किया था वीडियो डिलीट


वहीं इस मामले पर कायली के रिश्तेदारों ने बयान दिया है कि कायली के यूट्यूब अकाउंट से उसका वीडियो यूट्यूब ने नहीं, बल्कि उसकी पत्नी ने किया है. पत्नी ने जब कायली का वीडियो देखा तो उसने गूगल से कहा कि यह वीडियो हटा देना चाहिए और फिर उसने खुद ही वीडियो को डिलीट कर दिया. पत्नी का कहना है कि कायली की मानसिक स्थिति सही नहीं है और उसी चलते उसने ऐसा किया है.


Also Read: बच्चे को एयरपोर्ट पर छोड़ गई महिला, बीच रास्ते से वापस लौटी फ्लाइट


बता दें कि यह पहली बार नहीं जब किसी ने गूगल हेडक्वार्टर पर हमला करने की सोची हो, इससे पहले पिछले साल अप्रैल में भी ऐसा ही मामला सामने आया था जहां एक महिला ने गल के हेडक्वार्टर पर फायरिंग कर दी थी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक फायरिंग में 3 लोग घायल हो गए थे और अघदम ने आत्महत्या कर ली थी. इस मामले में आरोपी का कहना था कि यूट्यूब ने एनिमल राइट्स से जुड़े उसके वीडियोज को गलत तरीके से सेंसर कर दिया.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here