Breaking Tube
Government UP News

अगर एंबुलेंस हड़ताल की वजह से हुई किसी की मौत, तो सख्त कर्रवाई के लिए तैयार रहें : CM योगी

Pegasus espionage dispute CM Yogi

प्रदेश में एंबुलेंस कर्मचारियों की हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रही। इसकी वजह से मरीजों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ीं। जिसके अन्तर्गत कई लोगों की मौत भी हो गई। ये देखते हुए सीएम योगी ने सख्त रुख अपना लिया है। उन्होंने टीम 9 को सख्त आदेश देते हुए कहा है कि हर मरीज को तत्परता से चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जानी चाहिए। इस संबंध में किसी भी स्तर पर लापरवाही सहन नहीं होगी। अगर किसी एंबुलेंस प्रोवाइडर के वजह से मरीज की मौत हुई तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।


सीएम ने कहा ये

जानकारी के मुताबिक, सीएम ने टीम-9 के अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि हर मरीज को तत्परता से चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाए। अगर किसी जरूरतमंद को समय से एंबुलेंस सेवा प्राप्त न हो तो एंबुलेंस प्रोवाइडर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। लापरवाही के कारण यदि प्रदेश में किसी भी मरीज की मृत्यु हुई तो संबंधित अधिकारी- कर्मचारी पर कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में वो कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेंगे।


मुख्यमंत्री ने मंगलवार को टीम 9 के अधिकारियों के साथ बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शासकीय सेवा के लोग हों अथवा निजी/आउटसोर्सिंग सेवा से संबंधित लोग, निर्धारित दायित्वों का पूरी कर्मठता के साथ निर्वहन करें। स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग और गृह विभाग द्वारा इस आदेश का कड़ाई से अनुपालन कराया जाए। सीएम ने यह भी कहा कि कोविड काल में डाक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, अन्य सहयोगी स्टाफ ने सेवा कार्य का प्रेरक उदाहरण प्रस्तुत किया है। इसकी सराहना की जानी चाहिए।


इस वजह से हुई हड़ताल

प्रदेश में सरकारी एंबुलेंस का संचालन जीवीकेईएमआरआई कर रही है। बीते दिनों एएलएस एंबुलेंस के संचालन को लेकर टेंडर हुआ। दूसरी कंपनी को टेंडर मिला। तहरीर में कहा गया है कि एएलएस कर्मचारियो द्वारा नई कंपनी में नियोजन के मामले को स्पष्ट करने के लिए मांग उठाई। इसके बाद कर्मचारी ने चक्का जाम कर दिया। सोमवार से जीवनदायिनी स्वास्थ्य विभाग 108-102 एंबुलेंस संघ ने एंबुलेंस का चक्का जाम करा दिया। इससे मरीजों को खासी दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। जीवीके इएमआरआई के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट टीवीएसके रेड्डी की संघ के 11 पदाधिकारियों को हड़ताल के लिए जिम्मेदार माना। इन्हें कंपनी से बर्खास्त कर दिया गया है।


Also Read: याद रखियो, यहां केजरीवाल नहीं योगी हैं..’दिल्ली की तरह लखनऊ में चारों तरफ रास्‍ते होंगे सील’ ऐलान पर लोग ले रहे राकेश टिकैत के मजे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

रामपुर: आजम खान के चहेते पूर्व CO आले हसन के बेटे करवा रहे थे अवैध निर्माण, प्रशासन ने चलवाया JCB

Jitendra Nishad

दिल्ली हाई कोर्ट का फैसला इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग में होगी राहत

Satya Prakash

रामलला के दर्शन के बाद सीएम योगी से मिले अक्षय कुमार, फिल्म ‘राम सेतु’ पर हुई चर्चा

BT Bureau