पुलवामा अटैक: आतंकियों का सफाया करने में बिना शर्त भारत की मदद करने को तैयार इज़रायल

गौरतलब है कि बीती 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस आतंकवादी हमले को पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया था. जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की पूरी जिम्मेदारी भी ली थी. इस आतंकवादी हमले के बाद यह मांग जोर पकड़ रही है कि भारत सरकार को आतंकवाद के खिलाफ अभियान के लिए इज़रायल द्वारा अपनाए जाने वाले तरीके पर गौर करना चाहिए. जैसा कि सभी को पता है कि इज़रायली सेना अपनी सटीक और तुरंत की कार्रवाई के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है.


Also Read: पुलवामा अटैक: ऑस्ट्रेलिया में विरोध प्रदर्शन कर लोगों ने कहा- ‘पाकिस्तान आतंकवाद का समर्थन करना बंद करो’


भारत की हर तरह से मदद करेगा इज़रायल: डॉ. रॉन मलका

पुलवामा हमले के बाद जहां एक तरफ ग़म और आक्रोश का माहौल है. वहीं दूसरी तरफ इज़रायल ने भारत को विशेष रूप से आतंकवाद के खिलाफ खुद का बचाव करने के लिए बिना शर्त मदद की पेशकश करते हुए जोर देते हुए कहा है कि उसकी सहायता की ‘कोई सीमा नहीं है’. इज़रायल का यह आश्वासन इस बढ़ती मांग की पृष्ठभूमि में खासा महत्वपूर्ण है कि सरकार आतंकी हमलों से निपटने की इज़रायली पद्धति पर विचार करे. इज़रायल के नवनियुक्त राजदूत डॉ. रॉन मलका ने पिछले हफ्ते एक साक्षात्कार में कहा- ‘भारत को अपनी रक्षा के लिए जो आवश्यकता है, उसकी कोई सीमा नहीं है. हम अपने करीबी मित्र भारत को विशेष तौर पर आतंकवाद के खिलाफ बचाव करने में मदद करने के लिए तैयार हैं. क्योंकि आतंकवाद विश्व की समस्या है, न कि सिर्फ भारत और इज़रायल की’. उन्होंने जोर दिया कि दुनिया को सहयोग कर आतंकवाद से लड़ना चाहिए और इसे खत्म करना चाहिए. उन्होंने कहा- ‘इसलिए, हम भारत की मदद करते हैं, अपनी जानकारी साझा करते हैं, अपनी तकनीक साझा करते हैं क्योंकि हम वास्तव में अपने महत्वपूर्ण मित्र की मदद करना चाहते हैं’.


Also Read: पाक के खिलाफ मोदी सरकार का एक और फैसला, MFN छीनने के बाद बेची जाएगी करोड़ो की शत्रु संपत्ति


पुलवामा हमले पर रॉन मलका ने किया था ट्वीट

पुलवामा हमले के बाद इज़रायल के नवनियुक्त राजदूत डॉ. रॉन मलका ने भी ट्वीट किया था. ट्वीट में उन्होंने लिखा कि इज़रायल, पुलवामा में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता है और इस मुश्किल घड़ी में अपने भारतीय दोस्तों के साथ खड़ा है. वह सीआरपीएफ जवानों के परिवारों, भारत के लोगों और भारत सरकार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता है. 52 वर्षीय रॉन मलका पहले इज़रायल की सैन्य सेवा में थे और वहां से फुल कर्नल पद से सेवानिवृत्त हुए. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने उन्हें बताया कि भारत एक ‘महत्वपूर्ण साथी, बहुत महत्वपूर्ण दोस्त’ है तथा वह संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए सहयोग करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि भारत को मजबूत करके, इज़रायल वैश्विक स्थिरता में योगदान दे रहा है. क्योंकि वैश्विक स्थिरता में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका है. ‘हम सिर्फ विश्व को जीने के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं’.



Also Read: Pulwama Attack: इमरान खान की धमकी, अगर भारत ने किया हमला तो पाकिस्तान देगा करारा जवाब


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here