कुंभ मेला 2019: CM योगी ने अपने मंत्रिमंडल के साथ संगम में किया स्नान

मंगलवार को कुंभ मेले में अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने संगम में डुबकी लगाई. सीएम योगी के साथ अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि और अन्य साधु-संतों ने भी संगम में स्नान किया. स्नान के बाद प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा- ‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उत्तर प्रदेश की पूरी कैबिनेट और हमारे कई राज्यमंत्रियों ने आज संगम में डुबकी लगाई. कई साधु संत भी साथ में डुबकी लगाने के लिए आए. इसे मैं जीवन का सौभाग्य मानता हूं. आज का दिन प्रयागराज के लिए ऐतिहासिक दिन है’. इससे पहले सीएम योगी अपने मंत्रिमंडल के साथ लेटे हुए हनुमान जी के मंदिर गए, जहां उन्होंने पूजा अर्चना की. सीएम योगी ने मंत्रिमंडल के साथियों के साथ अक्षयवट और सरस्वती कूप के भी दर्शन किए. सीएम योगी ने दिव्य कुंभ, भव्य कुंभ सेल्फी प्वाइंट पर मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ फोटो भी खिंचवाई.




Also Read: योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला, गंगा किनारे बनेगा दुनिया का सबसे लंबा ‘गंगा एक्सप्रेस वे’


स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद प्रयागराज में रचा स्वर्णिम इतिहास

प्रयागराज के कुंभ मेले में कैबिनेट की बैठक पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा नगर अध्यक्ष अवधेष गुप्ता ने कहा- ‘स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद पहली बार प्रयागराज में योगी सरकार ने कैबिनेट की बैठक कर एक स्वर्णिम इतिहास रचा है’.




Also Read: नकलचियों पर शिकंजा कसने की तैयारी में योगी सरकार, 4 करोड़ कॉपियों पर होगी कोडिंग


लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण हो सकता है शुरू

कुंभ में कैब‍िनेट से पहले धर्म संसद का भी आयोजन क‍िया गया था. इसके अनुसार स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने ऐलान किया है कि वह अयोध्या कूच करेंगे. उनके साथ-साथ अखाडा़ परिषद पहले से कह चुका है कि वह कुंभ मेले के बाद जाएगा. इसके साथ ही उनसे पूछा गया कि इसके बाद क्या स्थिति रहेगी? सरकार कोई पहल कर सकती है क्या? क्या लोकसभा चुनाव से पहले मंदिर निर्माण शुरू हो सकता है? उन्होंने कहा- ‘देखिये, मैं इतना ही कहूंगा कि सरकार चाहती है कि जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण हो. ये जितना जनता से जुड़ा हुआ मसला है, जनता की जो आस्था है, वही सरकार की भी आस्था है’.




Also Read: राम जन्मभूमि विवाद को लेकर मोदी सरकार पहुंची सुप्रीम कोर्ट, विवादित भूमि को छोड़कर बाकी ज़मीन लौटाने की मांग की


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here