Breaking Tube
Politics

अखिलेश यादव के ऑफर को शिवपाल ने बताया ‘मज़ाक’, कहा- नहीं करेंगे गठबंधन

Shivpal singh yadav samajwadi party

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव भले ही चाचा शिवपाल यादव के प्रति नरमी दिखा रहे हैं। पर, शिवपाल यादव ने साफ तौर पर कह दिया है कि आगामी चुनाव में उनकी प्रगतिशील पार्टी खुद से झुककर किसी से भी गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने ये भी कहा कि कई छोटी छोटी पार्टियां मिलकर एक बड़ा गठबन्धन करेंगी।


कई पार्टी मिलकर बनाएंगी गठबन्धन

जानकारी के मुताबिक, जिला सहकारी बैंक के 71वीं सालाना निकाय बैठक में शामिल होने शनिवार को प्रसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव इटावा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा एक सीट दिए जाने को मजाक मानते हुए कहा कि अब हम छोटे-छोटे दलो का एलाइंस बना रहे हैं, एक राष्ट्रीय दल से भी वार्ता चल रही है। डॉ. लोहिया की तरह गैर भाजपावाद की राह पर चलकर सभी सेक्यूलर दलों को एकत्रित करना चाहते हैं।


शिवपाल यादव ने ऐलान किया है कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी 2022 में किसी से झुककर अलायंस नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि हम छोटे-छोटे दलों को जोड़ेंगे और किसी एक बड़े दल के साथ गठबंधन करेंगे। प्रसपा की प्रदेश में इतनी ताकत है कि 2022 विधान सभा चुनाव में प्रसपा के बगैर किसी की सरकार नहीं बनेगी।


Also Read: समय पर चुनाव न कराकर पंचायतों में सरकारी प्रशासक नियुक्त करना चाहती है भाजपा: अखिलेश यादव


अखिलेश यादव ने दिया था ये प्रस्ताव

गौरतलब है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव की पार्टी से गठबंधन को लेकर कहा था कि उस पार्टी को भी एडजस्ट करेंगे। जसवंतनगर उनकी (शिवपाल) सीट है। समाजवादी पार्टी ने वह सीट उनके लिए छोड़ दी है और आने वाले समय में उनके लोग मिलें, सरकार बनाएं, हम उनके नेता को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे। इससे ज्यादा और क्या एडजस्टमेंट चाहिए?


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

कांग्रेस के इस विरोध की वजह से फिर लटक सकता है तीन तलाक विधेयक

BT Bureau

रामदास अठावले का मायावती पर पलटवार, सवर्णों का भारत बंद विपक्ष की चाल

Aviral Srivastava

गाजीपुर: पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- ‘आपके चौकीदार ने कई चोरों की नींदे उड़ा रखी है’

BT Bureau