UP: स्वतंत्रता दिवस पर अखिलेश यादव बोले- गंगा-जमुनी तहजीब को बिगाड़ने की कोशिश की जा रही

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने ध्वज रोहण कर जनता को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। वहीं, सपा मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि सबको 15 अगस्त की बधाई देता हूं, उनको याद करना है जिनके बलिदान से आजादी मिली है। हमारे देश की पहचान यही है जहां अलग-अलग जाति, धर्म और परंपराओं के लोग एक साथ रहते हैं। लेकिन बीते कुछ साल से कुछ लोगों ने गंगा-जमुनी तहजीब को बिगाड़ने की कोशिश की। आज किसानों के सामने संकट है, अन्नदाता अपमानित हो रहा है और यहां अन्न महोत्सव मनाया जा रहा है।


सपा चीफ अखिलेश यादव ने कहा कि भारत की पहचान को खत्म करने की कोशिश हो रही है। कुछ लोग पुरानी बातों में उलझाना चाहते हैं। लोगों को कोरोना काल में बेहाल छोड़ दिया गया। यह लोग सात साल से उलझा रहे हैं। यह लोग सीमाओं पर मजबूती नहीं दिखा पा रहे हैं। जनता से जुड़ा कोई वादा पूरा नहीं किया। हम जातीय जनगणना चाहते हैं। आबादी के हिसाब से हिस्सेदारी मिले। ये लोग जाति के नाम पर लड़ाना चाहते हैं।


Also Read: Independence Day: पीएम Narendra Modi के संबोधन में दिखा देश के अगले 25 साल विजन, जानें भाषण की बड़ी बातें


अखिलेश ने आगे कहा कि हमारे देश में नौजवानों की संख्या ज्यादा है। ऐसे में उनके हाथों में रोजगार होना चाहिए, 7 सांल से सत्ता में बैठी सरकार उलझाए बैठी है। सीमाओं पर सरकार ठीक से काम नहीं कर पा रही। 2022 के चुनाव में उतारना है हमने, इस सरकार ने कोई वायदा पूरा नहीं किया। आज देश चाहता है कि जातीय जनगणना हो। सपा चाहती है कि कास्ट सेंसस हो। ताकि योजनाओं का लाभ आबादी के लिहाज से मिल सके।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )