Breaking Tube
International Social Social Revolution Trending Topic

Pulwama Attack: ‘पाकिस्तानी हूं पर आतंक के खिलाफ दूंगी भारत का साथ’

14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पूरे देश में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा है, जो लाजिमी है. देश में इस हमले से गुस्साए ज्यादातर लोगों ने पाकिस्तान से बदला लेने की बात कही है. इस आतंकी हमले को लेकर भारत व पाकिस्तान के लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी भावनाएं व्यक्त की है. सोशल मीडिया पर अपनी भावनाएं व्यक्त करते हुए पाकिस्तान की एक महिला पत्रकार सहर मिर्जा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट की है जिसमें वो एक तख्ती लेकर खड़ी दिख रही हैं. इसमें सहर ने लिखा है कि, “मैं एक पाकिस्तानी हूं. और मैं पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करती हूं.”





सहर मिर्जा ने तख्ती पर #AntiHateChallenge और #NoToWar. जैसे शब्द लिखकर उन लोगों को नसीहत दी है जो समाज में नफरत का कारोबार करते है. सहर ने आगे लिखा है कि “मैं देशभक्ति के लिए इंसानियत का सौदा नहीं करूंगी.” तस्वीर के कैप्शन में #WeStandWithIndia और #NoToTerrorism भी लिखा है. सहर ने इस तश्वीर के माध्यम से संदेश दिया है कि वह आंतकवाद के खिलाफ भारत के साथ हैं. सहर ने यह पोस्ट ‘अमन की आशा’ नाम के फेसबुक ग्रुप में किया है. इस ग्रुप में सहर के साथ कई अन्य पाकिस्तानी नागरिकों ने हाथों में तख्तियां लेकर “मैं एक पाकिस्तानी हूं. और मैं पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करती हूं” जैसे शब्द लिखें हैं.


Also Read: इस शख्स ने पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को दी अनोखी श्रद्धांजलि, पीठ पर गुदवाये 42 शहीदों के नाम


AntiHateChallenge मुहीम की करी शुरवात

‘अमन की आशा’ फेसबुक ग्रुप में सहर ने यह तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा है कि, “कश्मीर में हुए दर्दनाक आतंकी हमले में कई निर्दोष लोगों की जान गई, हम उससे बेहद दुखी हैं. ऐसे वक्त में हमें जरूरत है कि ज्यादा से ज्यादा लोग सामने आएं और जंग और आतंक के खिलाफ आवाज उठाएं. सहर ने कहा हमने AntiHateChallenge शुरू किया है, हम इस हमले की निंदा करते हैं और जो लोग यह सोच रखते है वह इस मुहिम से जुड़ सकते हैं.


सहर मिर्जा ने इस पोस्ट में साहिर लुधियानवी की चंद पंक्तियां भी लिखी हैं:


खून चाहे हमारा हो या उनका। खून तो इंसान का ही है।


जंग चाहे पूर्व में हो या पश्चिम में। ये है तो विश्व-शांति की हत्या ही।


चाहे घर में बम फोड़े जाएं या फिर सीमा पर। आत्मा तो घायल होती ही है।


जंग खुद में एक समस्या है। फिर जंग कैसे समस्या का हल करेगी?


आज ये आग और खून बरसाएगी। कल भूख और कमी लाएगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

महिला IAS अफसर ने कहा- नोटों से हटाई जाए महात्मा गांधी की फोटो, गोडसे को दिया धन्यवाद

S N Tiwari

पुलवामा हमले का एक साल: कैसे हुआ था हमला, फिर जब भारत ने पाक में घुसकर मारा

BT Bureau

बुजुर्ग दंपति को घर से निकाल रहा था बेटा, रोते हुए बताई बहू-बेटे की करतूत, Viral हुआ Video

BT Bureau