अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- भूटान और नेपाल भारत का हिस्सा हैं

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेकर एक आश्चर्यजनक बात सामने आई है. ट्रंप को ऐसा लगता था कि नेपाल और भूटान भारत का ही हिस्सा हैं. टाइम मैगजीन ने अमेरिकी खुफिया अधिकारियों के हवाले से इस बारे में बताया है. इन अधिकारियों के नाम रिपोर्ट में नहीं बताए गए हैं. मैगजीन में बताया गया है कि ट्रंप की ये गलती उस वक्त सामने आई जब वह साउथ एशिया पर ब्रीफिंग कर रहे थे. अधिकारियों ने मैगजीन को बताया कि ट्रंप साउथ एशिया के मैप की ओर इशारा करते हुए कह रहे थे कि नेपाल भारत का हिस्सा है.


Also Read: अमेरिका के हिंदू मंदिर में भगवान की मूर्ति पर पोती कालिख और बनाई गंदी तस्वीर, तोड़ी गयी मंदिर की खिड़कियां


असहमति जताने पर नाराज हुए ट्रंप, सलाहकारों के लिया किया ट्वीट

इसके बाद अधिकारियों ने उन्हें बताया कि यह एक स्वतंत्र देश है, तो ट्रंप कहने लगे कि भूटान तो भारत का हिस्सा था. इंटेलिजेंस के दो अधिकारियों ने बताया कि ट्रंप की बात पर असहमति जताने के कारण वो अपने सलाहकार पर गुस्सा भी हो गए. इसके बाद अधिकारियों से कहा गया कि ट्रंप को असहमत जवाब देने से बचें. बीते हफ्ते ट्रंप ने एक ट्वीट के जरिए खुफिया एजेंसियों के प्रति नाराजगी जाहिर की थी. ट्रंप ने खुफिया अधिकारियों को नासमझ कहा और दोबारा स्कूल जाने की सलाह दी थी. दरअसल खुफिया विभाग की रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान बम बनाने जैसा कोई कदम नहीं उठा रहा है. साल 2015 में ईरान के समझौते की दिशा में कदम बढ़ाता दिख रहा है. वहीं ट्रंप का कहना है कि ईरान अभी भी खतरा बना हुआ है और उस पर कड़े नियंत्रण की जरूरत है.


Also Read: वैश्विक भ्रष्टाचार सूचकांक 2018 रिपोर्ट: चीन, पाकिस्तान और रूस में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार, भारत की स्थिति में हुआ सुधार


ट्रंप ने नेपाल को निप्पल और भूटान को बटन कहा

वैसे ये कोई नई बात नहीं है जब ट्रंप ने साउथ एशिया को लेकर ऐसा कहा है. रिपोर्ट के अनुसार अगस्त में ट्रंप ने नेपाल को निप्पल और भूटान को बटन कहकर संबोधित किया था. ये बात उन्होंने साल 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाली बैठक से पहले एक ब्रीफिंग के दौरान कही थी. ट्रंप की आए दिन सामान्य ज्ञान को लेकर आलोचना होती रहती है. कुछ समय पहले उन्होंने जलवायु और मौसम के लेकर गलत टिप्पणी की थी. जिसके बाद लोगों ने उन्हें दोनों के बीच अंतर समझाया. इसके अलावा हाल ही में अमेरिका की ठंड को लेकर ट्रंप ने कहा था कि अब ग्लोबल वार्मिंग कहां है? इस पर भी उनकी काफी आलोचना की गई.


Also Read: मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी, मिशेल के बाद अब भारत लाए गए अगस्ता वेस्टलैंड के दो और ‘दलाल’


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here