नोएडा: परीक्षा देने आये छात्रों को जब नहीं मिला कोई ठिकाना, तब चौकी इंचार्ज ने रहने के लिए दिया आश्रय, उठाया 10 परीक्षार्थियों के 3 दिन का पूरा खर्च

वैसे तो जब भी हम पुलिस का नाम सुनते हैं तो हमारे दिमाग में सबसे पहले उसके द्वारा किसी से रिश्वत लेने या किसी को मारने धमकाने जैसे ख्याल उभर कर आते हैं. लेकिन, जब भी हम इनके बारे में किसी अच्छे काम में सहयोग या किसी सामाजिक उद्धार के बारे में सोचते हैं तो एक बार को अपने कानों पर भी भरोसा नहीं होता है. आज आपको हम ऐसे ही एक पुलिस की नौकरी करने वाले तथा मानवता की मिशाल पेश करने वाले ग्रेटर नोएडा के परी चौक पुलिस चौकी पर तैनात चौकी इंचार्ज अनूप कुमार सिंह से रूबरू कराते हैं. जिन्होंने अपनी इंसानियत की मिशाल पेश करते हुए एसएससी की परीक्षा देने आये छात्रों की मदद की. बता दें कि परीक्षा देने आए छात्रों को सर्द रात में रहने की जगह नहीं मिल रही थी तो चौकी इंचार्ज ने पुलिस चौकी में पनाह दी और 3 दिन तक अपनी जेब से उन छात्रों का पूरा खर्चा उठाया.


Also Read: यूपी: पुलिसकर्मियों के ‘आवास आवंटन’ में SSP के फर्जी साइन बनाकर कांस्टेबल कर रहा था मोटी कमाई, महकमे में खलबली


10 छात्रों का रहने-खाने का पूरा खर्चा उठाया

पुलिस की कड़क छवि के विपरीत ग्रेटर नोएडा में परी चौक के चौकी इंचार्ज ने मानवता की मिसाल पेश की है. उन्होंने शहर में एसएससी की परीक्षा देने आए छात्रों को 3 दिन तक अपनी चौकी में ठहराया. चौकी इंचार्ज ने उन्हें गर्म कपड़े और खाना दिया. शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा में एसएससी की परीक्षा का अंतिम पेपर हुआ. बुधवार को बाहरी जिलों से बड़ी संख्या में छात्र यहां परीक्षा देने आए थे और उन्हें 3 दिन तक परीक्षा देने के लिए यहां रुकना था. उनके पास ठहरने के लिए कोई ठिकाना नहीं था. कई ऐसे भी छात्र थे जिनके पास इस महंगे शहर में किराए पर कमरा लेने के लिए पैसे नहीं थे. ऐसे कई परेशान छात्र परी चौक पर घूम रहे थे. छात्रों की परेशानी को देखते हुए परी चौक पुलिस चौकी के इंचार्ज अनूप सिंह ने इनसे बात की. उन्होंने पुलिस चौकी में ही उनके ठहरने की व्यवस्था की. जमीन पर गद्दे बिछाए और साथ ही कंबल और खाने का बंदोबस्त भी किया. उन्होंने इसका खर्चा अपनी जेब से दिया. हर रात करीब 10 छात्र पुलिस चौकी में ठहरे.


Also Read: सीतापुर: पुलवामा शहीदों के परिजनों को बीजेपी विधायक ने दिया एक महीने का वेतन


कभी मैं भी जाता था परीक्षा देने: अनूप सिंह

चौकी इंचार्ज अनूप सिंह ने बताया कि कभी वह खुद भी इस तरह परीक्षा देने दूसरे शहरों में जाते थे. उन्हें ठहरने के दौरान होने वाली परेशानियों के बारे में अच्छी तरह से पता है. परेशान छात्रों की मदद कर बेहद सुकून मिला है. बीटा-1 आरडब्लूए के महासचिव आलोक नागर का कहना है कि शुक्रवार को वह किसी काम से परी चौक पुलिस चौकी गए थे. यहां छात्रों को ठहरा देखकर सुखद आश्चर्य हुआ. सब इंस्पेक्टर अनूप सिंह ने यह सराहनीय कार्य कर के दिल जीत लिया है. अनूप सिंह ने उनसे कहा है कि अगर किसी भी व्यक्ति को रात में ठहरने को लेकर कोई दिक्कत है तो वो उनसे संपर्क कर सकता है.


Also Read: पहला बदला पूरा, पुलवामा अटैक का मास्टर माइंड अब्दुल रशीद गाजी एनकाउंटर में ढेर


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here