Breaking Tube
Lifestyle

मिठास के लिए चीनी की जगह इस्तेमाल करें ये 5 चीजें, ब्लड प्रेशर समेत कई बीमारियों में कारगर

लाइफस्टाइल: जब भी हम कोई सेलिब्रेशन करते हैं या फिर स्वाद में मिठास लाना होता है, तो हमें सबसे पहले कुछ मीठा खाने के मन करता है. मीठे के लिए हमको गुलाब जामुन, आइसक्रीम जैसी चीजें खाना बेहद पसंद होता है या फिर कभी-कभी हम चीनी से बनी हुई चीजों को खाना पसंद करते हैं. हालांकि मीठा हमारे शरीर की कैलोरी को बढ़ाता है, सफेद चीनी से तैयार किसी भी चीज का मतलब है, हाई ब्लड प्रेशर लेवल, ज्यादा कैलोरी और जीरो न्यूट्रिटिव वैल्यू. इसके परिणामस्वरूप व्यक्ति का धीरे-धीरे वजन बढ़ना, सिर दर्द, दिल की बीमारी, दांतों और कैविटी जैसी समस्या शुरू हो सकती है. यह आगे चलकर बड़ी स्वास्थ्य समस्याओं जैसे कि ओरल हेल्थ डायबिटीज और कैंसर जैसी घातक बीमारी में भी बदल सकती है. आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि आप क्या खा रहे हैं. यहां पर चीनी के कुछ विकल्प हैं, जो आपको आपकी पसंद का बनाने की जानकरी दे सकते हैं.


शहद-
आयुर्वेद से लेकर कई औषधीय चिकित्सालयों ने भी शहद इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं, जिसमें फ्रुक्टोज हाई लेवल में पाया जाता है. यह स्वाद में काफी मीठा होता है, जिसकी वजह से आप इसका इस्तेमाल किसी भी मीठी डिश को बनाने में कर सकते हैं. शहद को चाय के साथ मिलाया जा सकता है, इसे टोस्ट पर फैलाया जा सकता है. शहद में फ्लेवोनोइड होते हैं जिसका अर्थ है कि यह एंटीऑक्सिडेंट से भरा हुआ है और इसमें कई एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल गुण हैं. हालांकि यह डायबिटीज के रोगियों के लिए एक अच्छा विकल्प नहीं हो सकता है क्योंकि यह ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ाता है.


डेट शुगर-
डेट यानी खजूर से भी शुगर निकाला जा सकता है. यह एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होने के साथ-साथ फाइबर के गुणों से भरपूर माने जाते हैं. इसकी अद्भुत बाइंडिंग और सम्मिश्रण गुणों के कारण, खजूर शुगर को स्मूथी के साथ-साथ कुकीज़ के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. आपके बेक और केक के लिए, खजूर का सिरप एक बेहद स्वादिष्ट विकल्प हो सकता है.


कोकोनट शुगर-
नारियल को हथेली पर रख कर एक कट बनाया जाता है. जिसे आगे वाष्पीकरण के लिए छोड़ दिया जाता है. इस प्रक्रिया के बाद, एक क्रिस्टलीकृत पदार्थ वापस छोड़ दिया जाता है जिससे बाद में कोकोनट शुगर बनाया जाता है. इस प्राकृतिक मिठास के बारे में एक बड़ी बात यह है कि यह मुख्य पकवान में अपनी बनावट और स्वाद जोड़ता है. इसे चाय या कॉफी में इस्तेमाल किया जा सकता है, या वेफल या पैनकेक के ऊपर छिड़का जाता है, या मसालेदार करी में भी मिलाया जाता है. यह अर्टीफिशल शुगर एक अच्छा विक्लप हो सकता है, क्योंकि इसमें कोकोनट के पोषक तत्व भरपूर होते हैं. इसमें इंसुलिन फाइबर की उपस्थिति होती है जिसके कारण यह आंत के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा माना जाता है.


अंजीर
अंजीर में बहुत सरल कार्बोहाइड्रेट पाए जाते हैं जिन्हें बहुत आसानी से तोड़ा जा सकता है. इसका मतलब है कि यह इंसुलिन के लेवल को नहीं बढ़ाता. अंजीर को आप पांच तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं. अंजीर हलवा, अंजीर के लड्डू और अंजीर बिस्कुट और इसे आप त्योहारों और छुट्टी के समय बना सकते हैं. इन्हें पानी में भिगोएं और एक प्यूरी में परिवर्तित करें. ये हड्डियों के हेल्थ, ब्लड हेल्थ और पाचन तंत्र के लिए अच्छे माने जाते हैं.


गुड़-
गुड़ गन्ने से प्राप्त किया जाता है. इसके अनरिफाइन होने के कारण इसमें आवश्यक विटामिन, खनिज, आयरन और एंटीऑक्सीडेंट का एक पॉपरहाउस माना जाता है. भोजन के बाद गुड़ का एक छोटा टुकड़ा आपके पाचन एंजाइम को सक्रिय करता है. यह एनीमिक रोगियों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. ये शरीर में हीमोग्लोबिन के लेवल को बढ़ाने का काम कर सकता है. गुड़ से गुड़ का हलवा, गुड़ की रोटियां, गुड़ के लड्डू और चीकू जैसे कई व्यंजन बनाए जा सकते हैं.


Also Read: सर्दियों में गर्माहट के लिए डाइट में शामिल करें ये 4 बेहतरीन चीजें


Also Read: प्रकृति का खजाना है गोंद का लड्डू, जानिए सर्दियों में इसके सेवन के अचूक फायदे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

सावधान: ज्यादा रोटी खाने से झेलने पड़ सकते हैं ये भारी नुकसान

Satya Prakash

बेली फैट को करना है कम तो रोजाना सिर्फ 60 सेकेंड तक करें ये काम

Satya Prakash

शोधकर्ताओं ने की चमत्कारिक खोज, ‘भगवद् गीता’ से होगा डायबिटीज जैसी कई गंभीर बिमारियों का इलाज

admin