Breaking Tube
Crime Politics UP News

मुश्किल में ओवैसी!, बाराबंकी में दर्ज हुई एक और FIR, अब राष्ट्र ध्वज के अपमान का आरोप

बाराबंकी थाना कोतवाली नगर क्षेत्र में ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के एक कार्यक्रम में कोविड-19 दिशा-निर्देशों का उल्लंघन और साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में उनके और आयोजक मंडल के खिलाफ मामला दर्ज करने के कुछ ही घंटों बाद एक और मामला दर्ज किया गया है. ओवैसी गुरुवार को बाराबंकी (Barabanki) में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे और कार्यक्रम के आयोजकों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा गया था. बाराबंकी में ओवैसी और कार्यक्रम आयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज करने के कुछ ही घंटों बाद राष्‍ट्रीय ध्‍वज के अपमान को लेकर एक और मामला दर्ज किया गया है.


ओवैसी पर आरोप लगा है कि उनकी जनसभा के दौरान मंच पर तिरंगा फहराने के बजाय लपेटा गया है, जो राष्ट्र ध्वज का अपमान है. इसको लेकर बाराबंकी में दरियाबाद विधानसभा सीट से भाजपा विधायक सतीश चंद्र शर्मा ने इससे पहले ही ओवैसी और कार्यक्रम आयोजकों के खिलाफ एफआईआर कराए जाने की मांग अपर मुख्य सचिव गृह से पत्र लिखकर की थी. उसकी कॉपी डीएम व एसपी को भी भेजी. विधायक ने अपर मुख्य सचिव को भेजे पत्र में लिखा है.


उन्होंने लिखा कि बाराबंकी के कटरा मोहल्ले में बिना अनुमति के मीटिंग कर ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर रामसनेही घाट में 100 साल पुरानी मस्जिद शहीद कराने का आरोप लगाया है, जो निंदनीय और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाला है, जबकि अवैध ढांचे को संवैधानिक प्रक्रिया के तहत गिराया गया है. इसके अलावा ओवैसी की सभा में राष्ट्र ध्वज का भी अपमान हुआ है. इसलिए इनपर सख्त कार्रवाई की जाए.


गौरतलब है कि एआईएमआईएम प्रमुख ओवैसी मंगलवार से उत्तर प्रदेश के तीन दिन के दौरे पर थे. उन्होंने मंगलवार को अयोध्या के रुदौली में जनसभा कर अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अभियान की शुरुआत की थी. बुधवार को उनका सुल्तानपुर में और गुरुवार को बाराबंकी में कार्यक्रम था. बाराबंकी के कार्यक्रम पर पहले जिला प्रशासन ने रोक लगा दी थी लेकिन बाद में आयोजक मंडल द्वारा कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने का आश्वासन दिये जाने के बाद कार्यक्रम की इजाजत दी गयी थी. ओवैसी उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुके हैं.


Also Read: ‘योगी मॉडल’ का जोर, UP में कोरोना समाप्ति की ओर, एक्टिव केस रह गए सिर्फ 184, वहीं 34 जिले कोविड मुक्त


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: जिस जिले व रेंज में है मकान वहां नहीं मिलेगी पुलिसकर्मियों को तैनाती, ‘बॉर्डर स्कीम’ का हवाला देकर जारी हुआ आदेश

BT Bureau

वैलेंटाइन डे स्पेशल: मुलायम को पसंद नहीं थीं डिंपल, किसी फ़िल्मी स्टोरी से कम नहीं है अखिलेश-डिंपल की Love Story

BT Bureau

यूपी: गैंगस्टर विकास दुबे के भाई को कानपुर लाने की तैयारी में पुलिस, खारिज करवाई जाएगी जमानत अर्जी

BT Bureau