कमलेश तिवारी हत्याकांड की साजिश में शामिल आसिम अली गिरफ्तार, यूट्यूब पर दी थी धमकी

0
8

लखनऊ में दिन-दहाड़े हुई हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या (Kamlesh Tiwari Murder) में एटीएस की नागपुर शाखा ने गिरफ्तार संदिग्ध असीम से पूछताछ की है. कमलेश की हत्या में एटीएस, नागपुर यूनिट द्वारा गोपनीय जानकारी मिली थी जिसमें एक अन्य संदिग्ध सैय्यद आसिम अली (Sayyed Asim Ali) की संलिप्तता के बारे में सूचना मिली थी, सूचना के आधार पर, एटीएस ने ऑपरेशन किया और एटीएस, नागपुर इकाई ने सैय्यद असीम अली को हिरासत में लेकर पूछताछ की.


यह पता चला कि संदिग्ध सैय्यद असीम अली इस मामले में अन्य आरोपियों के साथ लगातार संपर्क में था. यह भी पता चला है कि उन्होंने कमलेश तिवारी की हत्या में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. आरोपी को एटीएस, महाराष्ट्र ने गिरफ्तार किया था. उत्तर प्रदेश पुलिस ने आरोपी को आज नागपुर में कोर्ट में पेश किया और उसका ट्रांजिट रिमांड हासिल किया.


यूट्यूब पर दी थी धमकी

गिरफ्तार किये गये व्यक्ति की पहचान सैयद आसिम अली (29) के रूप में हुई है. वो शहर में हार्डवेयर का कारोबार करता है.पुलिस अधिकारी ने बताया कि अली ने पूर्व में तिवारी के खिलाफ प्रदर्शन आयोजित किया था और यूट्यूब वीडियो में उन्हें ‘चेतावनी’ भी दी थी.


पुलिस की 10 टीमें सक्रिय

कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश में सूरत में गिरफ्तार तीनों आरोपियों मौलाना मोहसिन शेख,फैजान और रशीद अहमद पठान उर्फ राशिद की तीन दिन की ट्रांजिट रिमाण्ड पुलिस लखनऊ ले आई है. इस सिलसिले में सोमवार को लखनऊ पुलिस ने एक अहम बैठक की. यह बैठक लखनऊ एसएसपी आवास पर जांच टीमों के साथ हुई. बताया जा रहा है इस बैठक में जांच टीमों को मिले अब तक के सुराग के बारे में विस्तार से चर्चा हुई. इसी के साथ  विवेचना के बारे में भी चर्चा हुई. एक अधिकारी ने बताया कि इस बैठक में तीनों साजिशकर्ताओं से पूछताछ का क्रम भी तय किया गया. इसमें आईजी रेंज एसके भगत भी मौजूद थे. मीटिंग में एसएसपी लखनऊ, सीओ हजरतगंज, समेत क्राइम ब्रांच व सर्विलांस के सभी 10 टीमें बुलाई गई.


यह भी माना जा रहा है कि इन आरोपियों को लेकर पुलिस बिजनौर, मुरादाबाद और पीलीभीत भी जा सकती है. पीलीभीत से राशिद के सम्पर्क बताये जा रहे हैं. कमलेश तिवारी की हत्या के 22 घंटे बाद ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर इस हत्याकाण्ड का खुलासा यूपी पुलिस ने कर दिया था. इन लोगों ने भड़काऊ बयान का बदला लेने के लिये कमलेश की हत्या की साजिश रची थी. रशीद ही मुख्य आरोपी था और उसने ही सूरत से अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन को हत्या करने के लिये लखनऊ भेजा था. एसएसपी ने बताया कि एएसपी क्राइम दिनेश पुरी पांच सदस्यीय टीम के साथ दो दिन से सूरत में ही है.


Also Read: सपा राज में था फ़तवा देने वाले मौलाना अनवारुल का जलवा, सिमी कनेक्शन, महिला से रेप और एसपी की वर्दी उतराने की धमकी के बाद भी पुलिस बजाती थी सलाम


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here