अलीगढ़: दारोगा और हेड कांस्टेबल जानते थे मारी जाएगी गांधी जी के पुतले को गोली, SSP हैरान

30 जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर जब देश जहां उनके विचारों और संघर्षों को याद कर उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित कर रहा था, उसी वक्त अलीगढ़ जिले में अखिल भारत हिंदू महासभा की सचिव पूजा शकुन पांडेय बापू के पुतले को गोली मारकर देश को शर्मसार करने वाली शर्मनाक घटना को अंजाम दे रही थीं। लेकिन इस वारदात को रोका जा सकता था, क्योंकि जिले के ही दो पुलिसवालों की घटना होने की जानकारी लग गई थी। फिर भी इन दोनों पुलिसवालों ने उच्चाधिकारियों से इस बात को छिपाया।


एसएसपी ने दोनों पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस घटना की सूचना पहले से गांधी पार्क के दरोगा महावीर सिंह और एलआईयू के हेड कांस्टेबल आशुतोष सिंह को पहले से थी। फिर भी उन्होंने उच्चाधिकारियों को सूचित नहीं किया। इस मामले में दोनों पुलिसकर्मियों को गुरुवार देर शाम एसएसपी को निलंबित कर दिया है। इन पर कर्तव्य में लापरवाही का आरोप है।


Also Read: मथुरा: अपनी पत्नी को पीट रहा था बीजेपी विधायक का भतीजा, सूचना पर पहुंचे डायल 100 के सिपाही को भी पीटा, मुकदमा दर्ज


बता दें कि अखिल भारतीय हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचि पूजा शकुन पांडे ने बुधवार को महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारकर नाथूराम गोडसे का ‘शहीद’ दिवस मनाया था। पूजा शकुन पांडे ने महात्मा गांधी के पुतले पर तीन गोलियां चलाईं थीं, गोली चलाने के बाद पुतले में से खून गिरते भी दिखाया गया था। इसके बाद पेट्रोल छिड़कर पुतले को फूंका गया फिर मिठाई बांटी गई। इस दौरान वहां ‘गोडसे जिंदाबाद’ के नारे भी लगाए गए। कुछ समय बाद उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और उनकी इस हरकत की आलोचना हुई। बवाल बढ़ने के बाद पूजा शकुन पांडे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।


Also Read: कानपुर: लड़के ने फाड़े महिला इंस्पेक्टर के कपड़े, कार्रवाई की जगह पुलिस सुलह का बना रही दबाव


भगवान कृष्ण से की गोडसे की तुलना

हद तो तब हो गई जब हिंदू महासभा की नेता पूजा शकुन पांडेय ने गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की तुलना भगवान कृष्ण से कर डाली। उन्होंने कहा कि अगर गांधी जीवित रहते तो देश का एक और विभाजन होता। बता दें कि पूजा शकुन पांडे का विवादों से पुराना नाता है। इससे पहले भी पूजा शकुन पांडे ने गोडसे की प्रतिमाओं और तस्वीरों पर फूल चढ़ाने के साथ नाथूराम का महिमामंडन कर चुकी हैं। यही नहीं, उन्होंने गांधी जी की पुण्यतिथि को शौर्य दिवस के रूप में मनाया और मिठाइयां भी बटवाईं हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here