Breaking Tube
Government UP News

सीएम योगी ने गोरखपुर को दी 130 करोड़ से अधिक की योजनाओं की सौगात, कहा- UP में संगठित अपराध पूरी तरह से समाप्त

CM Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को गोरखुपर (Gorakhpur) जिले को करीब 130 करोड़ 59 लाख रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी. सीएम योगी ने 54.20 करोड़ रुपये लागत की 16 परियोजनाओं का शिलान्यास किया और 76.39 करोड़ रुपये की लागत से पूरी हुईं 9 परियोजनाओं का लोकार्पण किया. इस कार्यक्रम का आयोजन ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ स्मृति पार्क में हुआ. इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में संगठित अपराध पूरी तरह से समाप्त हो चुका है. उन्होंने कहा कि विकास ही क्षेत्र की पहचान है, इसका कोई विकल्प नहीं है.


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि विकास के लिए सुरक्षा अनिवार्य शर्त है। इसी को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार ने संगठित अपराध को पूरी तरह समाप्त कर दिया है. कहीं भी कोई अपराधी समाज के सुरक्षित माहौल में बाधा डालता है तो उसको कुचलने के लिए प्रशासन को खुली छूट दी गई है. विकास के संकल्प पर निरंतर आगे बढ़ते रहने के लिए हमारा प्रयास है कि इसमें किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आनी चाहिए.


सीएम योगी शुक्रवार को रामगढ़ ताल समीप स्थित महंत दिग्विजयनाथ पार्क (नुमाइश ग्राउंड) में 76.39 करोड़ रुपये की 9 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण व 54.20 करोड़ की 16 परियोजनाओं के शिलान्यास के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि विकास की परियोजनाओं से न केवल बुनियादी सुविधाओं को नई ऊंचाईयां मिलेंगी बल्कि प्रदेश आर्थिक समृद्धि को भी प्राप्त करेगा. सीएम योगी ने जोर देकर कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं हो सकता. उन्होंने कहा कि पिछले माह केंद्र सरकार और फिर 22 फरवरी को राज्य सरकार ने बजट पेश किया. दोनों सरकारों का बजट विकास और रोजगार पर केंद्रित है. पीएम नरेंद्र मोदी की समग्र विकास की परिकल्पना को मूर्त रूप देने का कार्य 2017 में उत्तर प्रदेश में आई भाजपा सरकार ने किया है. आज प्रदेश में ऐसा कोई जनपद, लोकसभा, विधानसभा, विकास खण्ड या गांव नहीं है जहां विकास की बड़ी परियोजनाओं का लाभ न मिला हो. और, गोरखपुर तो इसका जीता जागता उदाहरण है.


खाद कारखाने से उठेगा धुंआ तो नए भारत की तस्वीर में चमकेगा गोरखपुर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1990 में बंद गोरखपुर का खाद कारखाना इस साल जुलाई तक पूर्ण हो जाएगा. इससे किसानों को सही, सस्ती व गुणवत्तापूर्ण खाद मिलेगी तो नौजवानों को बड़ी संख्या में रोजगार व नौकरी. खाद कारखाने से जब धुंआ उठेगा तो नए भारत की तस्वीर में अपना गोरखपुर चमकता हुआ दिखाई देगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद कारखाने में युवाओ को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार उन्मुख बनाया जाएगा.


औद्योगीकरण व रोजगार सृजन सरकार की प्राथमिकता

सीएम योगी ने कहा कि औद्योगीकरण और रोजगार सृजन सरकार की प्राथमिकता में है. प्रदेश में हमने 4 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी. तेजी से हुए निवेश के चलते 35 लाख युवाओं को निजी क्षेत्र में नौकरी मिली. एमएसएमई सेक्टर में लाखों को रोजगार मिला. पिपराइच में लगी 50 हजार कुंतल गन्ना प्रतिदिन पेराई की क्षमता वाली चीनी मिल भी रोजगार और किसानों की आय दोगुना करने की लेकर एक नए भविष्य का इशारा कर रही है.


गोरखपुर में बनेगा प्लास्टिक पार्क, 25000 को मिलेगा रोजगार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में जल्द ही प्लास्टिक पार्क स्थापित किए जाने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि इस पार्क में 100 से अधिक प्लास्टिक यूनिट्स लगेंगी. इसमे 25000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा. उन्होंने कहा कि अभी हाल में ही पीएम मोदी ने टॉय फेस्टिवल का शुभारंभ किया था, प्लास्टिक पार्क खिलौना उद्योग के क्षेत्र में क्रांति ला सकता है.


भगवान राम ही आए थे पुष्पक विमान से, अब हर नागरिक आ-जा सकता है

अपने संबोधन में सीएम योगी ने गोरखपुर समेत पूरे प्रदेश में शानदार हुई एयर और रोड कनेक्टिविटी का विस्तार से उल्लेख किया. उन्होंने कहा कि पहले गोरखपुर से एक भी हवाई सेवा नहीं थी, आज मुंबई, दिल्ली समेत आठ प्रमुख शहरों के लिए यहां से फ्लाइट है. कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा शुरू होने जा रही है. कुशीनगर में जापान, सिंगापुर, श्रीलंका के विमान आने की कल्पना भी किसी ने नहीं की थी, “भगवान राम ही पुष्पक विमान से आए थे, अब हर नागरिक आ-जा सकता है.”


सीएम योगी ने सड़कों के विस्तारीकरण और चौड़ीकरण का जिक्र करते हुए कहा कि पहले गोरखपुर से लखनऊ जाने का एक ही मार्ग था, अब लिंक एक्सप्रेस वे के जरिए एक और विकल्प मिल रहा है. उतनी ही दूरी को महज 3 घण्टे में पूरा किया जा सकता है. फोरलेन सड़कों के होने से आज गोरखपुर से नेपाल की यात्रा महज डेढ़ घण्टे में पूरी हो जाती है. पहले डेढ़ घण्टे गोरखपुर शहर में ही लग जाता था. आज गांव-गांव सड़क, बिजली और जलनिकासी की व्यवस्था है. अब किसी मंत्री व विधायक के घर तक ही सड़क नहीं बन रही बल्कि हर व्यक्ति को इसका लाभ मिल रहा है. उन्होंने कहा कि विकास से ही क्षेत्र की पहचान बनती है और हमारा यह दायित्व होना चाहिए कि हम विकास कार्यों में किसी प्रकार की बाधा न आने देंय उन्होंने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से कहा कि वे विकास कार्यों की नियमित समीक्षा व भौतिक सत्यापन करते रहें.


पूर्व की सरकारों में नहीं था गांव, गरीब व इलाज

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में गांव, गरीब व इलाज एजेंडे में नहीं था. लोगों को तीन घण्टे भी बिजली नहीं मिल पाती थी, मोबाइल की बैटरी तक चार्ज नहीं होती थी. आज गांव गांव बिजली की कमी नहीं है. 1977 से 2017 तक गोरखपुर बस्ती मंडल में हर साल इंसेफेलाइटिस से 1200 से 1500 बच्चों की असमय मौत हो जाती थी. मरने वाले 90 प्रतिशत बच्चे अल्पसंख्यक व दलित होते थे लेकिन इन्हें अपना वोट बैंक बनाने वाले मौन रहते थे. 2017 के बाद इंसेफेलाइटिस पर नकेल कस दिया गया है. पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए हमने पीएम मोदी से 2014 में एम्स मांगा था. 2016 में पीएम मोदी ने इसका शिलान्यास किया और इस वर्ष के अंत मे विश्व स्तरीय सुविधाओं वाले एम्स का लोकार्पण हो जाएगा. सीएम ने कहा कि एम्स बनने तक इलाज की बेहतरीन सुविधा के लिए प्रधानमंत्री ने मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की सौगात दी जहां कोरोना काल में कोविड रोगियों की शानदार चिकित्सा सुविधा मिली. यहां हर बेड के साथ वेंटिलेटर हैय मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही गोरखपुर में आयुष विश्विद्यालय की स्थापना भी होने जा रही है.


पर्यटन के क्षेत्र में पूर्वी उत्तर प्रदेश में असीम संभावनाएं

मुख्यमंत्री ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में असीम संभावनाओं के दृष्टिगत बताया कि इसी माह गोरखपुर के चिड़ियाघर का लोकार्पण हो जाएगा. शेर आ चुके हैं. यह प्रदेश का बेहतरीन चिड़ियाघर होगा, मनोरंजन के साथ ज्ञानवर्धन का माध्यम भी बनेगा. सीएम ने कहा कि याद करें 20 साल पहले गोरखपुर की क्या स्थिति थी. इसकी पहचान अपराध के केंद्र के रूप में थी. यहां के रामगढ़ ताल में शहर की गंदगी गिरती थी. आज रामगढ़ ताल खूबसूरती के लिए जाना जाता है. सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए जगह नहीं होती थी और आज महंत दिग्विजय नाथ पार्क और चंपा देवी पार्क जैसे दो बड़े सार्वजनिक स्थान हैं. इसी माह यहां बड़ी क्षमता का एक अत्याधुनिक प्रेक्षागृह समर्पित करने जा रहे हैं, जिस राजघाट पर गंदगी देख लोगों का मन खिन्न होता था आज वहां हर प्रकार की सुविधा के साथ शानदार प्लेटफार्म और स्नान की बेहतरीन व्यवस्था है. लाखों की संख्या में लोग बाबा गोरखनाथ की धरती पर आस्था निवेदित करने आते हैं. उन्होंने कहा कि गोरखपुर बौद्धिस्ट पर्यटन व सनातन संस्कृति के अनुनायियों का प्रमुख केंद्र है. यहां से होकर ही पर्यटक कुशीनगर, कपिलवस्तु, श्रावस्ती, अयोध्या, मगहर और काशी आते जाते हैं. ऐसे में यहां रोजगार की बड़ी संभावनाएं हैं. स्थानीय युवक इन पर्यटकों के लिए गाइड का कार्य कर सकते हैं.


महिला दिवस पर हर जिले में होंगे विशिष्ट कार्यक्रम


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 8 मार्च महिला दिवस पर हर जिले में विशिष्ट कार्यक्रम होंगे. इनमें संचालन से लेकर कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की भूमिका महिला के ही जिम्मे होगी. महिलाओं के सम्मान व सुरक्षा को लेकर मिशन शक्ति, एन्टी रोमियो स्क्वाड, महिला हेल्प डेस्क आदि का जिक्र करने के साथ ही सीएम ने बताया कि अब कोटे की रिक्त दुकानों का आवंटन महिला स्वयंसेवी समूहों को किया जाएगा. इसके साथ ही पुष्टाहार वितरण का कार्य भी महिला स्वयंसेवी समूहों की दिया जा रहा है. इससे पारदर्शी वितरण में मदद मिलेगी और शिशु-मातृ मृत्यु दर को और कम किया जा सकेगा. मुख्यमंत्री ने लोगों का आह्वान किया वे गांव की बेटी, सबकी बेटी और गांव की बहन सबकी बहन के भाव को जगाएं ताकि पाश्चात्य संस्कृति से आई विकृत सोच को दूर किया जा सके. समाज जागरूक हो जाए तो आधी आबादी के मन मे सुरक्षा का बोध और बढ़ेगा.


नगर पंचायत स्तर पर भी होगा पटरी व्यापारियों का व्यवस्थापन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर महानगर के हरिओम नगर और टीपीनगर में पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन का भी लोकार्पण किया. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इससे पटरी व्यापारियों के व्यवस्थित पुनर्वास के साथ ही सड़कों पर अतिक्रमण की समस्या दूर होगी. सीएम योगी ने कहा कि पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन के लिए नगर पंचायत स्तर पर भी कार्ययोजना बनाई जाएगी. उन्होंने कहा कि पटरी व्यापारियों को पीएम स्वनिधि योजना से भी जोड़कर सस्ते दर पर लोन दिलाया गया है. उन्हें डिजिटल मोड में लाकर अतिरिक्त लाभ भी मिलेगा. सीएम ने अधिकारियों को हर न्याय पंचायत में गो आश्रय स्थल के निर्माण की कार्ययोजना बनाने और उसमें एनजीओ को जोड़ने का निर्देश भी दिया. साथ ही बताया कि उनकी सरकार ने निराश्रित गोवंश के पालन के लिए हर इच्छुक को 900 रुपए प्रतिमाह धनराशि उपलब्ध कराई है. कुपोषित परिवारों के लिए एक दुधारू गाय प्रतिमाह 900 रुपए पशु के भरण पोषण के लिए देने का कार्य किया है. अब तक 1200 से अधिक ऐसे परिवारों को गाय दी गई है.


लोकार्पण व शिलान्यास समारोह में बांसगांव के सांसद कमलेश पासवान, महापौर सीताराम जायसवाल, नगर विधायक डॉ राधामोहन दास अग्रवाल, गोरखपुर ग्रामीण के विधायक बिपिन सिंह, कैम्पियरगंज के विधायक फतेह बहादुर सिंह, पिपराइच के विधायक महेंद्रपाल सिंह, चौरीचौरा की विधायक संगीता यादव, सहजनवां के विधायक शीतल पांडेय, खजनी के विधायक संत प्रसाद, बांसगांव के विधायक डॉ विमलेश पासवान, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह, जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता, हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश महामंत्री पीके मल्ल, समेत कई अधिकारी उपस्थित थे.


इन परियोजनाओं का सीएम योगी ने लोकार्पण


1 मानसिक मंदित आश्रय गृह सह प्रशिक्षण केंद्र की चहारदीवारी एवं टाइप 2 आवास निर्माण: 00.58 करोड़

2 जंगल कौड़िया-तुर्कवलिया-जसवल चौराहा तक मार्ग चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण: 14.16 करोड़

3 देवरिया बाइपास मार्ग पर भगत चौराहा-सेंट जेविर्यस पब्लिक स्कूल-कजाकपुर सीसी रोड एवं नाली निर्माण: 2.51 करोड़

4 गोरखपुर देवरिया उपमार्ग के किमी 1,5,6,7,8,9,10 , ( 500 ) में आईआरक्यूपी के अन्तर्गत सतह सुधार: 5 करोड़

5 लोहरपुरवा ठाकुर नगर बीएमसीटी तक मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण: 16.13 करोड़

6 भटहट माधी बांसस्थान मार्ग के किमी 1 से 11.50 मार्ग का चौडीकरण एवं सुदृढ़ीकरण: 20.43 करोड़

7 चौरीचौरा-नई बाजार इटौवा घाट-गाबडौर मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण: 13.77 करोड़

8 महेवा ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस चौकी के पीछे मॉडल वेंडिंग जोन का निर्माण: 2.39 करोड़

9 हरिओम नगर तिराहा एवं रूस्तमपुर में वेंडिंग जोन का निर्माण: 1.43 करोड़


इन परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास


1 जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में सृदृढीकरण: 1.15 करोड़

2 अघोरपीठ स्थल के पयर्टन विकास एवं सौदर्यीकरण: 00.67 करोड़

3 बुढिया माता स्थल का पयर्टन विकास एवं सौदर्यीकरण: 1.60 करोड़

4 शहीद बंधु स्थित स्मारक स्थल पयर्टन विकास एवं सौदर्यीकरण: 00.76 करोड़

5 ग्राम पंचायत ककराखोर से बरवल माफी सम्पर्क मार्ग निर्माण: 1.39 करोड़

6 एनएच 29 से जंगल विश्रामपुर तक खडंजा एवं इंटर लाकिंग: 00.56 करोड़

7 एनएच 29 से जीरो बंधे से महोब बतऊवां चनऊ पिछौरा जोतमापर-टण्डवां मुख्य मार्ग तक पिच: 1.61 करोड़

8 ग्राम पंचायत मझगांवा में 04 लेन व 02 लेन को जोड़ते हुए अवधेश यादव से घर एवं प्राथमिक विद्यालय रेलवे लाइन रोड निर्माण: 1.52 करोड़

9 मलौनी बांध से परियोजना बांध लहसड़ी तक सम्पर्क मार्ग का निर्माण: 101 करोड़

10 ग्राम पंचायत छताई पोखरा से मडुआडाड़, पाण्डेयपुरा, बाबूपुरा-ग्राम पंचायत धुवहा सम्पर्क मार्ग तक पिच रोड एवं सीसी रोड निर्माण: 3.69 करोड़

11 ग्राम सभा डांगीपार से ग्राम सभा डुहिया व ग्राम सभा लहसड़ी से टोला भागलपुर विभिन्न सम्पर्क मार्ग का निर्माण: 5.31 करोड़

12 जंगल सिकरी से रामप्रीत पासी के मकान से पंचायत भवन होते हुए गोरखपुर देवरिया मार्ग तक व गोरखपुर देवरिया मार्ग से राजमन टोला होते हुए शिव मंदिर होते हुए रनबहादुर सिंह के मकान से होने हुए भिखारी टोला तक सम्पर्क मांग निर्माण: 3.39 करोड़

13 विकास खण्ड सरदारनगर एशियन फर्टिलाइजर मार्ग का 5 किमी तक सीसी रोड निर्माण: 1.38 करोड़

14 फुटहवा इनार मार्ग से रेलवे क्रासिंग सरदारनगर स्टेशन तक सीसी रोड निर्माण: 1.74 करोड़

15 चौरीचौरा गवनार मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ्ढीकरण: 14.72 करोड़


16 पीपीगंज अकटहवा कल्याणपुर नवापार मार्ग चौड़ीकरण एवं सृदृढ्ढीकरण: 13.71 करोड़


Also Read: राम भक्‍तों को योगी सरकार देने जा रही गौरव का एक और ऐतिहासिक अवसर, ‘रामायण विश्‍वमहाकोश’ का प्रथम संस्‍करण बन कर तैयार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अखिलेश यादव का योगी सरकार पर तंज, ट्वीट कर कहा- न चली तानाशाही, न चलेगी बहानाशाही

Jitendra Nishad

आजमगढ़: महिलाओं को छेड़ रहा था नशेड़ी सिपाही, युवक ने टोका तो ठोंक दी गोली

BT Bureau

लखनऊ में 1 दिसंबर तक धारा-144 लागू, बिना परमिशन नहीं कर पाएंगे कोई भी आयोजन

Jitendra Nishad