सीएम योगी ने किया ‘मुख्यमंत्री जन आरोग्य’ अभियान का शुभारंभ, बोले- हमने दवा खरीद में होने वाले बड़े खेल को रोका

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को राजधानी के लोकभवन से ‘मुख्यमंत्री जन आरोग्य’ अभियान का शुभारंभ किया. इस मौके पर उन्होंने संबंधित लाभार्थियों के बीच गोल्डन कार्ड एवं आरोग्य कार्ड वितरण किया. इस दौरान उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और रीता बहुगुणा जोशी भी मौजूद रहीं. सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में दवाओं की खरीद में पहले बड़े बड़े खेल होते थे लेकिन हमने उस पर भी रोक लगा दी है.


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, दवा खरीद में पहले बड़े-बड़े खेल होते थे, लेकिन हमने उस पर भी रोक लगा दी है. पहले जिला अस्पतालों का बुरा हाल था, लेकिन अब उनमें भी सुधार किए गए हैं. उन्होंने कहा, 1947-2014 तक केवल 13 राजकीय मेडिकल कॉलेज थे और हम 15 मेडिकल कॉलेज बना रहे हैं. उन्होंने कहा, संसाधनों की कमी नहीं है आशा, आंगनबाड़ी कर्मियों ने टीकाकरण अभियान को निचले स्तर तक ले जाने का काम किया है.


सीएम योगी ने आशा कार्यकर्ताओं का मानदेय 750 रुपये बढ़ाने का ऐलान किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के लिए केंद्र के सहयोग से राज्य सरकार ने कार्य किया है. उन्होंने कहा आज 750 आरोग्य केंद्र के साथ स्वास्थ्य उपकेंद्र का उद्घाटन किया गया है. इसके साथ प्रदेश में टेलीमेडिसिन व टेलिरेडियोलॉजी सेंटर का लोकार्पण किया. देश की आबादी का पांचवां भाग उत्तर प्रदेश में रहता है. हमारा प्रयास है कि स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर रहें. स्वास्थ्य विभाग की टीम को नीचे के स्तर से ऊपर तक अच्छा काम करना होगा. अब टेलीमेडिसिन के जरिए सुदूर अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मिल सकती हैं. देश भर में 115 एस्पेरेशनल जिले चुने गए थे. इनमें भी उत्तर प्रदेश के आठ पिछड़े जिलों को हम पटरी पर लाए हैं. यहां डॉक्टर्स की कमी थी. टेलीमेडिसिन की मदद से इन जिलों में स्वास्थ्य सुविधा मिलने लगी है.


Also Read: मुलायम होते देश के प्रधानमंत्री, वो तो रामगोपाल ने पूरा प्लान फेल कर दिया: शिवपाल


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here