Breaking Tube
Crime UP News

महोबा: निलंबित एसपी ने सिपाही के जरिए ट्रांसपोर्टर से मांगे थे 2 लाख, मना करने पर उठाया ये कदम

Mahoba Indrakant Tripathi ips manilal patidar

महोबा के पूर्व निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार के खिलाफ विजिलेंस की जांच चल रही है। इसी जांच में अब एक बड़ा खुलासा हुआ है। जिसके अन्तर्गत ये बात सामने आई है कि, ट्रांसपोर्टर से सिपाही के जरिये दो लाख रुपये की उगाही मांगी थी। रकम न देने पर पाटीदार के इशारे पर पुलिस ने ट्रांसपोर्टर के कई डंपरों को सीज कर बंद करवा दिया था


जांच में ही रहे बड़े खुलासे

जानकारी के मुताबिक, मणिलाल पाटीदार एसपी थे तो एक सिपाही ने ट्रांसपोर्टर से संपर्क कर उससे दो लाख की उगाही मांगी थी। उसने कहा था कि रकम एसपी को देनी है। जब ट्रांसपोर्टर ने रकम देने से मना कर दिया तो उसके कुछ ही दिन बाद उसके एक के बाद एक कई ट्रकों को जब्त करवा लिया। विजिलेंस को ये अहम तथ्य मिला है। जांच में इसको शामिल कर लिया है।


Also Read: PFI पर शिकंजे के बाद ISO नाम से खड़ा किया गया नया संगठन, हाथरस मामले की जांच कर रहीं एजेंसियों का बड़ा खुलासा


ट्रांसपोर्टर ने विजिलेंस से इस मामले की शिकायत की है। विजिलेंस ने उनको बयान के लिए बुलाया है। सूत्रों के मुताबिक इन सभी की जब सीडीआर निकाली गई तो पता चला कि सिपाही ने एक बार कई बार ट्रांसपोर्टर को कॉल की। ये कॉल केवल रकम लेने के लिए ही की गई। इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि सिपाही का ट्रांसपोर्टर से और कोई मतलब नहीं है।


अब तक फरार हैं एसपी

महोबा जिले के कप्तान रहे आईपीएस मणिलाल पाटीदार को गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी प्रयागराज की क्राइम ब्रांच को दी गई है। क्राइम ब्रांच ने पूर्व कप्तान की तलाश में राजस्थान में छापेमारी की। उनके घर और रिश्तेदारों के यहां पहुंची पुलिस ने छानबीन की, हालांकि वहां पर कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस प्रयागराज समेत अन्य जिलों में भी नजर रखी है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

‘लुटेरा है SSP अनंत देव’, बिकरू कांड में शहीद CO का Audio वायरल, कहा- कप्तान ने जमकर की कमाई

BT Bureau

#MeToo: नाना पाटेकर ने दी महाराष्ट्र महिला आयोग को सफाई, तनुश्री पर लगाया गंभीर आरोप

Satya Prakash

जिहादी इनामुल हक और सलमान से पूछताछ में खुले कई राज, 8 और साथियों के नाम आए सामने

BT Bureau