अलीगढ़ : CM योगी को बदनाम करने के लिए की गईं साधुओं की हत्या

अलीगढ़ के हरदुआगंज में तिहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया है कि योगी सरकार को बदनाम करने के लिए साधुओं की हत्या के करने की साजिश रची गई। पुलिस ने इस हत्याकांड की जानकारी देते हुए बताया कि एटा का एक गैंग अलीगढ़ में साधुओं की हत्या करने के लिए आया था। डीजीपी ने हत्याकांड का पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम को 50,000 और एडीजी आगरा जोन ने 30,000 का इनाम दिया दिया है। वहीं, डीआइजी ने 25,000 और एसएसपी ने 20,000 का इनाम की घोषणा भी की है।

 

इसलिए बनाया साधुओं को टारगेट

जानकारी के मुताबिक, साधुओं को इसलिए टारगेट बनाया गया क्योंकि योगी सरकार में साधुओं के मामले में पुलिस ज्यादा संवेदनशील है। पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला है कि योगी सरकार को बदनाम करने की साजिश के तहत ऐसा किया गया था।

 

Also Read : रावण को मिला इमरान का साथ, कहा – मिलकर लड़ेंगे बीजेपी से

 

बता दें कि अलीगढ़ में छह हत्याएं हो चुकी है, जिसमें तीन साधु थे और बाकी के ग्रामीण। पुलिस ने बताया कि हरदुआगंज में पिछले दिनों साधुओं की हत्या करने में इसी गैंग का हाथ रहा।

 

पकड़े गए आरोपियों की पुलिस ने की पहचान

पकड़े गए बदमाशों की पहचान साबिर निवासी किदवई नगर, सलमान निवासी शिवपुरी हाल निवासी मुहल्ला बांसवाड़ा अतरौली अलीगढ़, इरफान निवासी मुहल्ला नंगला सारंगपुर पहासू बुलंदशहर, यासीन निवासी ब्रह्मपुरी थाना अतरौली अलीगढ़, नदीम पुत्र साबिर निवासी किदवई नगर एटा के रूप में की गई है।

 

Also Read :  सीलबंद मकान का ताला तोड़ना पड़ा महंगा, मनोज तिवारी के खिलाफ FIR दर्ज

 

वहीं, फरार अभियुक्तों में मुस्तकीम निवासी शिवपुरी छर्रा, साल निवासी शिवपुरी छर्रा अलीगढ़, अफसर निवासी मुहल्ला ठठिया उजानी बदायूं शामिल है। इनके खिलाफ 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है।

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here