Pulwama Attack: भारत से डरा पाकिस्तान कर रहा जंग की तैयारी, अस्पतालों को दिए निर्देश- रखो पूरी तैयारी

0
9

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत से बढ़ते तनाव को देखते हुए पाकिस्तान किसी जंग की आशंका से ग्रस्त होकर तैयारियों में जुट गया है। पाकिस्तान को भारत की ओर से जवाबी कार्रवाई का डर सता रहा है। बता दें कि एक अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में ऐसा बताया गया है।


पाकिस्तानी अफसरों के आधिकारिक दस्तावेज से मिली जानकारी

हाल ही में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कहा था कि अगर भारत की ओर से हमला किया गया तो पाकिस्तान भी जवाबी हमला करेगा। ऐसे में द टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट में पाकिस्तानी अफसरों के आधिकारिक दस्तावेज के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान जंग की तैयारियों में जुट गया है। इसमें से एक दस्तावेज बलूचिस्तान स्थित पाक आर्मी बेस का है।


Also Read: World Cup 2019: पाकिस्तान से मैच खेलने के पक्ष में थरूर, कहा- नहीं खेलना, बिना लड़े हार है


वहीं, पाक अधिकृत कश्मीर में स्थानीय अधिकारियों की ओर से भेजा गया एक नोटिस भी इस ओर इशारा करता है। रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के क्वेटा स्थित हेडक्वॉटर्स क्वेटा लॉजिस्टिक एरिया के आर्मी बेस ने जिलानी अस्पताल को 20 फरवरी को लिखा है कि वे भारत के साथ जंग की आशंकाओं के मद्देनजर मेडिकल सपोर्ट की योजना तैयार कर लें।


अस्पतालों को खत लिखकर दिए गए निर्देश

इस रिपोर्ट के मुताबिक जिलानी अस्पताल के अब्दुल मलिक को आर्मी बेस के फोर्स कमांडर आसिया नाज की ओर से लिखे गए खत में कहा गया है कि ईस्टर्न फ्रंट पर अचानक जंग छिड़ने के हालात में क्वेटा लॉजिस्टिक एरिया में घायल सैनिकों के पहुंचने की आशंका है। इन्हें सिविल और मिलिट्री अस्पतालों में शुरुआती ट्रीटमेंट दिए जाने के बाद सिविल और मिलिट्री अस्पतालों में बेड दोबारा से उपलब्ध होने तक बलूचिस्तान के सिविल अस्पताल शिफ्ट किया जाएगा।


Also Read: मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छिनते ही पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था ने टेके घुटने, बाघा बॉर्डर पर सड़ रहा अरबों का माल


इस खत में सभी प्राइवेट अस्पतालों से कहा गया है कि वे इस मकसद के लिए संबंधित सुविधाओं के साथ अपने 25 फीसदी बेड अलग तैयार रखें। वहीं, खत के अंत में लिखा है कि इस मुहिम के लिए पूरे पाकिस्तान से गर्मजोशी भरी प्रतिक्रिया मिली है और ऐसी ही उम्मीद बलूचिस्तान से भी की जा रही है।


रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार को पीओके की सरकार ने लाइन ऑफ कंट्रोल से सटे नीलम, झेलम, रावलकोट, हवेली, कोटली और भीमबेर के अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर कहा कि वे अपने नागरिकों को अडवाइजरी जारी करें और उन्हें इंडियन आर्मी की ओर से किसी संभावित हमले के लिए आगाह करें।


Also Read: कुलभूषण जाधव को फंसाने के लिए ICJ में पाकिस्तान ने The Quint और The Indian Express के लेखों को बनाया सबूत


वहीं, नागरिकों से यह भी कहा गया है कि वे सुरक्षित रास्तों का इस्तेमाल करें। इसके अलावा, रात मे वेवजह रोशनी का इस्तेमाल न करें। बता दें कि इससे पहले यह खबर आ चुकी है कि भारत की ओर से किसी जवाबी प्रतिक्रिया के डर से पाक अधिकृत कश्मीर में बने आतंकी लॉन्चपैड्स से आतंकियों को दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here