गृहमंत्री राजनाथ बोले, ‘जो पानी से भी तेल निकाल ले, उसी का नाम है नितिन गडकरी’

लखनऊ में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने फ्लाईओवर का शिलान्यास करते हुए कहा कि जो पानी से भी तेल निकाल ले उसी का नाम नितिन गडकरी है. उन्होंने बुधवार को लखनऊ में चार फ्लाई ओवर का शिलान्यास किया. राजनाथ सिंह ने बताया कि शहर के तीन फ्लाईओवर का काम अभी तेजी से चल रहा है. उन्होंने बताया कि पूरी 104 किलोमीटर की 8 लेन की आउटर रिंगरोड 2022 तक पूरी हो जाएगी. इससे लोग 45 मिनट में लखनऊ से कानपुर पहुंच जाएंगे. साथ ही जल्द ही लखनऊ के लोगों को ट्रैफिक जाम से निजात मिल जाएगा.


राजनाथ सिंह ने बताया कि अमौसी एयरपोर्ट के विस्तार के लिए 1383 करोड़ की परियोजना स्वीकृत की गई है. 2014 में चुनाव से पहले मैंने कहा था कि मैं कोई वादा नहीं करूंगा लेकिन निर्वाचित होने के 100 दिन में ही मास्टर प्लान तैयार किया और उसपर काम किया. आज हमारा लखनऊ LUCK + NOW बन गया है. 5 साल में बीमारों के इलाज के लिए PM कोष से 4 करोड़ खर्च किए गए हैं.


राजनाथ सिंह ने बताया कि शहर के तीन फ्लाईओवर का काम अभी तेजी से चल रहा है. उन्होंने बताया कि पूरी 104 किलोमीटर की 8 लेन की आउटर रिंगरोड 2022 तक पूरी हो जाएगी. इससे लोग 45 मिनट में लखनऊ से कानपुर पहुंच जाएंगे. साथ ही जल्द ही लखनऊ के लोगों को ट्रैफिक जाम से निजात मिल जाएगा.


उन्होंने कहा कि अटल जी ने कहा था कि मैं लखनऊ की तुलना किसी शहर से नहीं करना चाहता बल्कि इसे अतुल्य बनाना चाहता हूं. अटल जी का स्वप्न लखनऊ को विश्वस्तरीय शहर बनाने का था, मैं अटल जी के सपने को पूरा करने का प्रयास कर रहा हूं. मैंने जनता की मांग पर नितिन गडकरी से गोमती के लिए प्रोजेक्ट लाने के लिए बात की. एक बार में गोमती के लिए 1200 करोड़ के प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल गई.


राजनाथ ने कहा कि वर्ष 2014 में चुनाव से पहले मैंने कहा था कि मैं कोई वादा नहीं करूंगा, लेकिन निर्वाचित होने के 100 दिन में ही मास्टर प्लान तैयार कर दिया और उस पर काम किया. आज हमारा लखनऊ लक नाउ बन गया है. उन्होंने बताया कि शहर के तीन फ्लाईओवरों का काम अभी तेजी से चल रहा है. 104 किलोमीटर की 8 लेन की आउटर रिंगरोड 2022 तक पूरी हो जाएगी. इसके बाद जब गडकरी को मौका मिला तो उन्होंने भी राजनाथ सिंह की जमकर तारीफ की.


गडकरी ने कहा कि राजनाथ की निधि से विकास काम को देखकर लग रहा है कि लखनऊ बदल गया. मैं पहले भी लखनऊ आया था, लेकिन अब बड़ा फर्क महसूस हो रहा है. उन्होंने कहा कि राजनाथ ने नमामि गंगे में गोमती को शामिल करने को कहा था जिसपर आज 300 करोड़ का काम भी किया जा रहा है. आज यहां पर 80 परियोजनाओं पर काम हो रहा है.


नागपुर को उदाहरण देते हुए गडकरी ने कहा कि हम तो गंदे पानी के साथ पराली से बायो सीएनजी बनाते हैं. अब इसको उत्तर प्रदेश में लाना चाहते हैं ताकि इससे जल और वायु प्रदूषण से मुक्ति मिले. उस मौके पर प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ.दिनेश शर्मा और क़ानून मंत्री ब्रजेश पाठक मौजूद रहे.


Also Read: लोकसभा चुनाव से पूर्व सपा को बड़ा झटका, निषाद समाज का यह कद्दावर नेता बीजेपी में शामिल


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here